जोधपुर, 27 सितंबर।राजस्थान में गायों के बाद अब हिरणों में भी लंपी वायरस के लक्षण सामने आए हैं। राजस्थान के सरहदी जिले बाड़मेर के कातरला गांव में तकरीबन 35 हिरणों में लंपी के लक्षण पाए जाने की बात सामने आई है। हालांकि जिले के पशुपालन विभाग ने अभी तक इस मामले में पुष्टि नहीं की है लेकिन लंपी के समान लक्षण पाए जाने से 25 हिरणों की मौत के बाद विभाग में खलबली जरूर है। यह सभी हिरण यहां के अमृता देवी वन्यजीव संरक्षण संस्थान से सम्बद्ध थे। पशुपालन विभाग की टीम भी रेस्क्यू सेंटर पहुंची है, जहां इन हिरणों के सैंपल लिए गए हैं। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही इस बारे में पुष्टि होने की बात कही गई है।

जानिये पूरा मामला

बाड़मेर से करीब 73 किमी दूर कातरला स्थित अमृता देवी वन्य जीव संरक्षण संस्थान में अन्य पशु पक्षियों के साथ तकरीबन 135 से अधिक हिरण भी हैं। यहां इन हिरणों में लंपी जैसे रोग के लक्षण पाए गए। स्थानीय स्तर पर हिरणों के इलाज भी किया गया, लेकिन 25 से अधिक हिरणों की मौत हो गई। तकरीबन 35 हिरणों में इस बीमारी के लक्षण पाए गए थे। जानकारों के अनुसार इन हिरणों के पैरों में सूजन के बाद कीड़े पड़ना, आंखों व शरीर पर गांठें बनना, नाक से पानी बहना सहित कई लक्षण हैं, जो लंपी से मिलते-जुलते हैं ।

गायों में लंपी बीमारी के बाद अब हिरणों में इस बीमारी के लक्षण पाए जाने को लेकर बाड़मेर पशुपालन विभाग में हड़कंप है। बाड़मेर डीएफओ सजय प्रकाश भादू ने बताया कि मंगलवार को टीम कातरला रेस्क्यू सेंटर गई है । जहां संक्रमित हिरणों के सैंपल लेकर जांच की जा रही है। इसकी रिपोर्ट आने के बाद ही विभाग आधिकारिक रूप से कुछ कह पायेगा। विभाग ने ऐसे मामलों को लेकर जिले के सभी रेंजर्स को निर्देश दिए हैं।

Posted By: Shailendra Kumar

Assembly elections 2021
elections 2022
  • Font Size
  • Close