राजस्थान में सीकर जिले से एक ऐसा खबर सामने आई है जो हम सबको सोचने पर यह मजबूर कर देती है कि आखिर इतनी मौतों का जिम्मेदार कौन है। सीकर जिले के एक गांव में संक्रमित व्यक्ति को बिना कोरोना गाइडलाइन का पालन किये दफनाने के बाद करीब 21 लोगों की मौत हो गई। हालांकि, इस मामले में प्रशासन का कहना है कि इनमे से केवल चार लोगों की ही मौत कोरोना संक्रमण से हुई है, वहीं शेष की वजह कुछ और है।

लक्ष्मणगढ़ के उप-विभागीय अधिकारी कुलराज मीणा ने कहा कि गत 21 अप्रैल को सीकर जिले के खीरवा गांव में कोरोना पॉजिटिव व्यक्ति का शव लाया गया था। उसको दफनाने के दौरान करीब 150 लोग जुटे थे। इस दौरान कोविड की गाइडलाइन का पालन नहीं किया गया। इस दौरान शव को प्लास्टिक के थैले से बाहर भी निकाला गया। इतना ही नहीं कई लोगों ने शव को छुआ भी। मीणा ने कहा,' 21 लोगों की मौत की बात कही जा रही है, उसमें से केवल तीन से चार लोगों की ही मौत कोरोना के कारण हुई है।' अन्य लोगों की मौत की वजह अन्य हैं। हालांकि 147 परिवारों के सदस्यों की जांच लिए नमूने लिए गए हैं। इसके साथ ही प्रशासन ने गांव में सैनिटाइजेशन अभियान चलाया है। लोगों को समस्या की गंभीरता के बारे में बताया जा रहा है।

कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष ने साझा की थी जानकारी

राजस्थान में कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा के विधानसभा क्षेत्र में खीरवा गांव पड़ता है। बताया जाता है कि उन्होंने कोरोना संक्रमित व्यक्ति के दफानाने के बाद लोगों की मौत होने की जानकारी इंटरनेट मीडिया पर साझा की थी, लेकिन बाद में पोस्ट को हटा लिया था।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags