Ram Mandir Bhumi Pujan: 5 अगस्त का दिन भारत के इतिहास में स्वर्णिम अक्षरों में लिखा गया क्योंकि इस दिन अयोध्या में राम मंदिर का भूमिपूजन हुआ। 492 सालों के संघर्ष के बाद करोड़ो हिंदुओं का इंतजार खत्म हुआ जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राम मंदिर का भूमि पूजन किया। नरेंद्र मोदी के नाम एक और उपलब्धि दर्ज हो जाएगी और वे अयोध्या में राम लला के दर्शन करने वाले पहले प्रधानमंत्री बन गए।

ऐसा नहीं है कि इससे पहले कोई भारतीय प्रधानमंत्री अयोध्या नहीं गया, लेकिन कोई भी प्रधानमंत्री रामलला के दर्शन को नहीं गया था। इससे पहले अयोध्या पहुंचने वाले प्रधानमंत्रियों में इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और अटल बिहारी वाजपेयी शामिल थे।

इंदिरा गांधी:

इंदिरा गांधी 1966 में सरयू पुल का लोकार्पण करने आई और फिर आचार्य नरेंद्र देव विश्वविद्यालय के कार्यक्रम में शामिल हुई। उन्होंने इसके बाद 1979 में हनुमान गढ़ी के दर्शन किए।

राजीव गांधी:

राजीव गांधी दो बार प्रधानमंत्री के रूप में और एक बार पूर्व प्रधानमंत्री के रूप में अयोध्या आए। राजीव गांधी ने 1984 में चुनावी सभा को संबोधित किया। उन्होंने 1989 में लोकसभा चुनाव अभियान का आगाज फैजाबाद (अयोध्या) से किया। राजीव गांधी 1990 में सद्भावना यात्रा को सिलसिले में अयोध्या आए, लेकिन इस बार भी राम जन्मभूमि मंदिर से दूर रहे।

अटल बिहारी वाजपेयी:

अटल बिहारी वाजपेयी साल 2003 में अयोध्या आए, लेकिन वे भी रामलला के दर्शन को नहीं पहुंचे थे। वे इस आंदोलन के प्रमुख महंत रामचंद्र परमहंस के अंतिम संस्कार में शामिल होने आए थे। वैसे उन्होंने सरयू तट पर महंत की चिता के सामने श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण का इच्छा पूरी करने की घोषणा की थी।

हनुमानगढ़ी के दर्शन से शुरू होगा प्रधानमंत्री मोदी का अयोध्या दौरा:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या दौरे की शुरुआत हनुमान गढ़ी मंदिर में पूजन के साथ हुई। इसके बाद पीएम मोदी ने रामलला के दर्शन किए और राम मंदिर का भूमि पूजन किया और इसकी आधारशिला रखी।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020