बेंगलुरु। पंजाब एवं महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (PMB) पर पैसा निकासी की लिमिट तय करने के बाद अब रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने कर्नाटक के बेंगलुरु स्थित श्री गुरु राघवेंद्र को-ऑपरेटिव बैंक पर भी पैसा निकालने की सीमा तय कर दी है। RBI द्वारा बैंक से पैसा निकासी पर कैपिंग करने की खबर लगते ही बैंक के बाहर जमाकर्ताओं की भीड़ लग गई है। बुजर्ग और महिलाओं की लंबी कतारे पैसा निकालने पहुंच गई हैं। बैंक खाताधारकों में RBI के निर्णय के बाद जमकर घबराहट है। RBI ने बैंक के खाताधारकों को 35 हजार तक की निकासी की छूट दी है।

RBI ने बैंक को अपना बिजनेस तत्काल प्रभाव से रोकने का निर्देश देते हुए प्रतिबंध लगा दिया। इसके बाद अपने पैसे की स्थिति को जानने के लिए बड़ी संख्या में ग्राहक बैंक पहुंच रहे हैं। हालांकि बैंक मैनेजर की ओर से सभी खाताधारकों को उनका सौ फीसदी पैसा पूरी तरह से सुरक्षित होने का आश्वासन दिया जा रहा है।

RBI ने कही यह बात

RBI की ओर से कहा गया है कि बैंक का लाइसेंस कैंसल नहीं किया गया है। लैंडर अपने बैंकिंग बिजनेस को फाइनेंशियल पोजिशन में सुधार होने तक प्रतिबंधों के साथ जारी रख सकता है। RBI ने वित्तीय अनियमितताओं की वजह से बैंक पर कड़े प्रतिबंध लगा दिए हैं।

जमाकर्ताओं में घबराहट

RBI के प्रतिबंध की जानकारी लगने के बाद से ही जमाकर्ताओं में जमकर घबराहट मची हुई है। एक खाताधारक का कहना था 'मेरे पति की इस बैंक में 15-20 लाख की FD हैं। वह रिटायर हो चुके हैं। हम उस पर ही आधारित हैं। जब हमें यह मैसेज मिला तो हम तनाव में आ गए। लेकिन जब हम यहां आए तो बैंक के एडवाइजर ने हमें कहा कि आपनी जमा राशि पूरी तरह से सुरक्षित है। लेकिन हमें 6 महीने तक इंतजार करना होगा। हम लोग खुश नहीं हैं।'

Posted By: Neeraj Vyas

fantasy cricket
fantasy cricket