Maharashtra Poltics: सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने फेसबुक लाइव के जरिए जनता को संबोधित किया। उन्होंने मुख्यमंत्री पद के साथ विधान परिषद की सदस्यता से भी इस्तीफा देने का ऐलान किया। अपने संबोधन में उन्होंने बागी विधायकों के प्रति अपनी नाराजगी और दुख का खुलकर इजहार किया। उन्होंने कहा कि आप याद रखना कि शिवसेना में रहते हुए आपने बाला साहेब के बेटे के साथ कैसा व्यवहार किया। उन्होंने इस्तीफे का ऐलान करते हुए कहा कि मैं नहीं चाहता कल शिवसैनिकों का सड़कों पर खून बहे। माना जा रहा है कि गुरुवार को वो विधानसभा में उपस्थित नहीं होंगे। ऐसे में फ्लोर टेस्ट बेमानी हो जाता है।

मुंबई के कमिश्नर बदले

महाराष्ट्र सरकार ने एक और बड़ा फैसला लेते हुए वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी विवेक फनसालकर को मुंबई का पुलिस कमिश्नर नियुक्त किया है। दरअसल मौजूदा पुलिस कमिश्नर सीपी पांडेय कल यानी गुरुवार को रिटायर होने वाले हैं। मुंबई पुलिस ने बागी विधायकों के मुंबई में पहुंचने और फ्लोर टेस्ट को लेकर चल रही राजनीति कवायद के बीच हंगामे की आशंका को देखते हुए सुरक्षा बढ़ा दी है। साथ ही सभी राजनीतिक दलों से भड़कानेवाले बयान ना देने का आग्रह किया है।

कैबिनेट की बैठक

इससे पहले बुधवार की शाम उद्धव ठाकरे ने कैबिनेट की बैठक बुलाई। एनसीपी नेता जयंत पाटिल ने बताया कि मुख्यमंत्रीजी ने तीनों पार्टियों ने जो ढाई साल में अच्छा काम किया, उस पर आभार व्यक्त किया। सीएम ने बैठक में कहा कि मेरे खुद के पार्टी ने मुझे दगा दिया है ये बहुत ही दुर्भाग्य है और इसके लिए उन्होंने दुख भी जताया। वहीं बैठक के बाद बाहर निकलते वक्त उद्धव ठाकरे भावुक नजर आये और मीडिया को देखकर हाथ जोड़ लिए। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो सीएम ठाकरे. सुप्रीम कोर्ट की ओर से फ्लोर टेस्ट का आदेश मिलने पर, पहले भी इस्तीफा दे सकते हैं।

शहरों के नाम में परिवर्तन

कैबिनेट की बैठक में औरंगाबाद का नाम संभाजी नगर और उस्मानाबाद का नाम धाराशिव करने के फैसले पर मुहर लगा दी गई। इसके अलावा नवी मुंबई एयरपोर्ट का नाम डीबी पाटिल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा कर दिया गया। आपको बता दें कि पहले नाम बदलने को लेकर कांग्रेस की ओर से विरोध हो रहा था, लेकिन कैबिनेट की ताजा बैठक में बिना किसी विरोध के ये प्रस्ताव पास हो गये।

शिवसेना के तमाम बागी विधायक बुधवार शाम गुवाहाटी के होटल के निकलकर एयरपोर्ट पहुंचे और गोवा के लिए रवाना हुए। इस दौरान गुवाहाटी हवाई अड्डे पर शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे ने कहा कि हम विद्रोही नहीं हैं। हम शिवसेना हैं। हम बालासाहेब ठाकरे की शिवसेना के एजेंडे और विचारधारा को आगे बढ़ा रहे हैं। उन्होंने बताया कि हम कल मुंबई पहुंचेंगे और विश्वास मत में भाग लेंगे। उसके बाद विधायक दल की बैठक होगी, इसके बाद आगे की कार्रवाई तय की जाएगी। इस दौरान विधायकों ने एकजुटता दिखाते हुए गुवाहाटी हवाई अड्डे पर पहुंचते ही “छत्रपति शिवाजी महाराज की जय” और “एकनाथ शिंदे साहब तुम बढ़ो, हम तुम्हारे साथ हैं” के नारे लगाए। इस बीच महाराष्ट्र नव निर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे ने फ्लोर टेस्ट में भाजपा को समर्थन देने का फैसला लिया है।

आपको बता दें कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के निर्देश पर कल यानि गुरुवार 30 जून को महाराष्ट्र विधानसभा के विशेष सत्र में बहुमत परीक्षण होना है। राज्यपाल ने सुबह 11 बजे से 5 बजे के बीच सरकार से बहुमत साबित करने का निर्देश दिया है। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री को भेजे अपने पत्र में लिखा, "इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया में रिपोर्ट सहित मेरे सामने उपलब्ध सभी सामग्री को ध्यान से देखने के बाद मेरी राय है कि मुख्यमंत्री के बहुमत को साबित करने के लिए एक फ्लोर टेस्ट अनिवार्य है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि सरकार सदन के विश्वास से चल रही है।''

शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) ने बुधवार को दावा किया उनके पास 50 विधायकों का समर्थन है। शिंदे ने कहा कि वे नंबर के आधार पर "कोई भी फ्लोर टेस्ट"(Floor Test) पास कर सकते हैं।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close