नई दिल्ली। पूर्व मुख्यमंत्री दिवगंत एनडी तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी हत्याकांड में पुलिस के हाथ कुछ अहम सुराग लगे हैं।

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस किसी नतीजे पर पहुंचने में जल्दबाजी नहीं कर रही है। इधर, रोहित की मां उज्ज्वला स्वीकार कर रही हैं कि रोहित और अपूर्वा के बीच मधुर संबंध नहीं थे।

इसकी वजह रोहित के एक करीबी रिश्तेदार की पत्नी है, जिससे उनकी नजदीकी बताई जा रही है। इसे लेकर पति-पत्नी में विवाद होता था।


क्राइम ब्रांच ने पूछे 80 सवाल

शनिवार को क्राइम ब्रांच ने रोहित की पत्नी अपूर्वा, मां उज्ज्वला, बड़े भाई सिद्धार्थ, ससुर पीके शुक्‍ला, नौकर गोलू, ड्रायवर अभिषेक व नौकरानी सहित 8 लोगों से आठ घंटे तक पूछताछ की गई।

उनसे 80 सवाल पूछे गए। इसमें पत्नी अपूर्वा रडार पर रहीं। रोहित और अपूर्वा के बीच एक महिला के आने से संबंधों में खटास की बात सामने आ रही है। पत्नी और मां के विरोधाभासी बयान से मामला उलझा जरूर है।

रोहित के फोन से किए गए थे 12 कॉल

घटना वाले दिन सोमवार की आधी रात रोहित के फोन से एक व्यक्ति को 12 कॉल किए गए थे। लिहाजा पुलिस इस नंबर के अलावा रोहित के फोन से किए गए अन्य 18 नंबरों की कॉल डिटेल रिकॉर्ड भी अब खंगाल रही है।

तीसरी महिला के चलते होता था झगड़ा

शुरुआती जांच में पता चला है कि रोहित की अपने एक रिश्तेदारी की पत्नी से नजदीकी थी। इस पर अक्सर रोहित और अपूर्वा में झगड़ा होता था। घटना वाले दिन भी वह महिला रोहित के साथ गई थी। आशंका है कि इसी बात पर रोहित और अपूर्वा में विवाद हुआ हो।

मां ने दिया पुलिस को विरोधाभासी बयान

रोहित की मां उज्ज्वला के विरोधाभासी बयान से पुलिस आशंकित है। मां ने घटना के बाद बताया था कि सोमवार रात उन्होंने रोहित के साथ खाना खाया था। सुबह वह उनसे नहीं मिल सकीं, बाद में उन्होंने मंगलवार सुबह भी रोहित के साथ नाश्ता करने की बात कही थीं। पोस्टमार्टम की प्राथमिक रिपोर्ट के मुताबिक उनकी मौत सोमवार आधी रात ही हो गई थी।

अपूर्वा के बचाव में उतरे पिता, बोले-मेरी बेटी निर्दोष

इंदौर। अपूर्वा के पिता हाई कोर्ट वकील पीके शुक्ला ने कहा कि आरोप तो भगवान पर भी लगे हैं। मुझे नहीं पता कि ससुराल वाले अपूर्वा पर आरोप क्यों लगा रहे हैं। वह किसी को डांटे, इसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती, हत्या की बात तो संभव भी नहीं है।

अपूर्वा ने नाराजगी में भी कोई अमानवीय कृत्य किया हो, यह संभव नहीं है। प्रतिक्रिया देना उसके स्वभाव में नहीं है। पति-पत्नी के बीच विवाद सामान्य बात है लेकिन पिछले एक साल में न तो अपूर्वा, न उसके ससुराल वाले और न ही रोहित, किसी ने भी किसी भी तरह के विवाद के बारे में हमें नहीं बताया।

छह माह से इंदौर हाई कोर्ट में भी प्रैक्टिस रही

अपूर्वा का जन्म इंदौर में ही हुआ है। उन्होंने स्कूल और कॉलेज की पढ़ाई भी इंदौर में ही की। वर्ष 2015 से अपूर्वा ने इंदौर हाई कोर्ट में प्रैक्टिस शुरू की।

2016 में वह सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस करने दिल्ली चली गईं। शादी के बाद अपूर्वा का इंदौर आना-जाना भी लगा रहता था। बीते छह महीने से वह इंदौर हाई कोर्ट में भी प्रैक्टिस कर रही है।