नई दिल्ली। देश के चर्चित रोहित शेखर तिवारी हत्याकांड में पुलिस ने रोहित शेखर की पत्नी अपूर्वा शुक्ला को ही आरोपी बनाया है। फिलहाल अपूर्वा तिहाड़ जेल में बंद हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अपूर्वा अब जेल में टैरो कार्ड रीडिंग सीख रही हैं। वे जेल में मनोगत कला (Occult Art) को लेकर भी दिलचस्पी दिखा रही हैं। रोहित शेखर तिवारी उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री रहे दिवंगत नारायण दत्त तिवारी के बेटे थे।

तिहाड़ जेल में क्लास संचालित करने वाली डॉ. प्रतिभा सिंह ने बताया कि जेल में हर हफ्ते मंगलवार और शुक्रवार को कार्ड रीडिंग सेशन होता है। ये सेशन दो घंटे के लिए होता है। इस सेशन के दौरान अपूर्वा हमेशा अगली पंक्ति में बैठती है।

सिंह ने कहा कि 'शुरुआत में अपूर्वा ने मुझसे संपर्क किया था। हम अब तक 7 क्लास कर चुके हैं। अपूर्वा हमेशा क्लास को अटेंड करती हैं। बल्कि एक बार कोर्ट की सुनवाई होने की वजह से अपूर्वा क्लास अटैंड नहीं कर सकीं थी, इस पर उन्होंने खेद जताया था।'

उन्होंने कहा कि अपूर्वा पिछले 5-6 सालों से टैरो कार्ड रीडिंग सीखना चाहती थी लेकिन वह किसी वजह से इसे नहीं सीख सकीं थी। साथ ही सिंह ने बताया कि अपूर्वा क्लास के दौरान पूरे वक्त चुप रहती हैं और हमेशा उत्साह और आत्मविश्वास दिखाती हैं।

बता दें कि रोहित शेखर की 15 अप्रैल की रात हत्या हो गई थी। पुलिस द्वारा की गई जांच के बाद साक्ष्यों के आधार पर उनकी पत्नी अपूर्वा को हत्या का आरोपी बनाया गया था।