मुंबई पुलिस के निलंबित एपीआइ सचिन वाझे को विशेष एनआइए अदालत ने शुक्रवार को 23 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया। न्यायिक हिरासत के दौरान वाझे को रायगढ़ की तलोजा जेल में रखा जाएगा। वाझे को मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक लदी स्कार्पिंयो खड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। बाद में इसी स्कार्पिंयो के कथित मालिक मनसुख हिरेन की हत्या के मामले में भी उसे आरोपित बनाया जा चुका है। महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगे 100 करोड़ रुपयों की उगाही मामले में भी उससे पूछताछ की जा रही है। अंटीलिया मामले में 12 घंटे की पूछताछ के बाद सचिन वाझे को एनआइए ने 13 मार्च को गिरफ्तार कर लिया था। फिर मनसुख हिरेन हत्याकांड की जांच एनआइए के हाथ में आने के बाद जांच एजेंसी ने इस मामले में भी उससे पूछताछ शुरू कर दी थी। दोनों मामलों में उसे कई जगह ले जाकर सीन रीक्रिएट करवाया गया एवं कई सुबूत भी बरामद करवाए गए। इसी कड़ी में वाझे के सीआइयू कार्यालय से एनआइए ने एक डायरी भी बरामद की थी। आज भी एनआइए ने विशेष अदालत से वाझे की हिरासत बढ़ाने की मांग की थी। लेकिन विशेष अदालत ने उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया। मनसुख हत्याकांड में दो सह आरोपित विनायक शिंदे एवं नरेश गोर पहले ही न्यायिक हिरासत में भेजे जा चुके हैं। सचिन वाझे को रायगढ़ की उसी तलोजा जेल में रखा जाएगा, जहां कुछ माह पहले उसके द्वारा गिरफ्तार किए गए पत्रकार अर्नब गोस्वामी को रखा गया था।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags