बेंगलुरु। जाने-माने कन्नड़ लेखक एमएम कलबर्गी की हत्या पर साहित्य अकादमी की चुप्पी के विरोध में उपन्यासकार शशि देशपांडे ने इसकी सामान्य परिषद से त्यागपत्र दे दिया है। अकादमी के अध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद तिवारी को शुक्रवार को लिखे पत्र में देशपांडे ने साहित्यिक संस्था के मौन को निराशाजनक करार दिया है।

उन्होंने लिखा कि यह कदम मैं खेद और इस उम्मीद के साथ उठा रही हूं कि कार्यक्रम आयोजित करने और पुरस्कार बांटने के अलावा अकादमी उन महत्वपूर्ण मुद्दों से भी जुड़ेगा, जो लेखकों की आजादी को प्रभावित करते हैं।