नई दिल्ली। देश का अग्रणी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया अक्सर अपने ग्राहकों के लिए बड़े ऐलान करता रहता है। डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने की दिशा में बैंक पहले भी कईं ऑफर्स दे चुका है और अब खबर है कि स्टेट बैंक आने वाले दिनों में IMPS पर लगने वाला चार्ज पूरी तरह से खत्म कर देगा। बैंक ने RBI के फैसले का बद ऑनलाइन लेनदेन के लिए उपयोग होने वाले NEFT और RTGS के अलावा IMPS पर लगने वाला चार्ज खत्म कर दिया है।

अब खबर है कि बैंक ने RTGS और NEFT पर लगने वाला चार्ज 1 जुलाई से खत्म किया है वहीं 1 अगस्त से इमीडिएट पेमेंट सर्विसेज (IMPS) पर लगने वाला चार्ज भी खत्म करने वाली है। बता दें कि IMPS की मदद से यूजर तत्काल बड़ा अमाउंट ट्रांसफर कर सकता है।

फिलहाल 1000 रुपए तक IMPS के माध्यम से किए जाने वाले लेनदेन पर कोई चार्ज नहीं लगता है। वहीं 1 हजार से 10 हजार के बीच के लेनदेन पर 2 रुपए प्लस जीएसटी देना होता है।

जानिए क्या है IMPS

इस सेवा को सार्वजनिक रूप से 22 नवंबर 2010 को शुरू किया गया था। इस सेवा के माध्यम से एक बैंक अकाउंट से दूसरे बैंक अकाउंट में रुपया कभी भी किसी भी समय भेजा जा सकता है। इस सेवा का उपयोग बैंक की छुट्टियों के समय भी पूरे साल 24x7 किया जा सकता है।