मेडक। तेलंगाना के मेडक जिले में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। यहां एक स्कूल की प्रिंसिपल ने पानी बचाने के लिए 150 छात्राओं के जबर्दस्ती सिर के बाल कटवा दिए। ये घटना 12 अगस्त की बताई जा रही है। मेडक के ट्राइबल गर्ल्स गुरुकुल स्कूल में ये वाकया हुआ। यहां होस्टल में पानी की कमी से निपटने के लिए इन छात्राओं के साथ इस घटना को अंजाम दिया गया। इसका खुलासा तब हुआ जब लड़कियों के परिजन उनसे मिलने होस्टल पहुंचे और उनके बाल कटे हुए देखे।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट्स के मुताबिक स्कूल प्रिंसिपल के करुणा द्वारा दो नाईयों को बुलाया गया और होस्टल में रहने वाली लगभग 150 छात्राओं के बाल बिना उनकी मर्जी के कटवाए गए। इसकी वजह बाल धोने में ज्यादा पानी का इस्तेमाल होना बताया गया। इतना ही नहीं इसके लिए हर छात्रा से 25 रुपए भी लिए गए।

जब परिजनों को इस घटना की जानकारी लगी तो उन्होंने नाराज होकर स्कूल प्रिंसिपल के करुणा के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। वहीं दूसरी इस मामले पर प्रिंसिपल ने सफाई देते हुए कहा कि ये निर्णय इसलिए लिया गया क्योंकि ये पाया गया कि ज्यादातर छात्राएं Lice Infestation और Dermatological Diseases से पीड़ित थीं। इस दौरान प्रिंसिपल ने छात्राओं के बेहतर स्वास्थ्य और स्वच्छता का भी हवाला दिया।

प्रिंसिपल ने कहा कि बाल कटवाने के दौरान सभी छात्राओं की मर्जी भी पूछी गई थी। उनके द्वारा सहमति जताए जाने के बाद ही बाल कटवाए गए थे। वहीं इस मामले की जानकारी जब प्रशासन को लगी तो उन्होंने सच्चाई जानने के लिए इस पर जांच बैठाई है।

Posted By: Neeraj Vyas