School Reopening News: देश में कोरोना महामारी थमती नजर नहीं आ रही है। हालांकि यह भी साफ हो गया है कि बहुत लंबे समय तक सबकुछ बंद नहीं रखा जा सकता है। यही कारण है कि धीरे धीरे जिंदगी को पटरी पर लाने की कवायद हो रही है। इसी कवायद का हिस्सा है स्कूल खोलने को कोशिश। केंद्र सरकार द्वारा अनलॉक 4.0 का ऐलान किए जाने के बाद से कुछ राज्यों ने अपने यहां 21 सितंबर से स्कूल खोलने की कोशिश की है। अभी 9 से 12वीं की कक्षाएं लगाई जा रही हैं। हालात सामान्य रहे तो शेष कक्षाएं शुरू करने पर विचार होगा।

School Reopening News: इन राज्यों में हो रही स्कूल खोलने की कोशिश

मध्यप्रदेश: मध्य प्रदेश के 9वीं से 12वीं कक्षा के स्कूल 21 सितंबर से खुलने जा रहे हैं। इस संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग ने केंद्र के मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) का पालन करने के निर्देश दिए हैं। राजधानी भोपाल के कुछ स्कूलों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए स्कूलों को सैनिटाइज करने साथ साफ-सफाई की जा रही है। स्कूल दो पाली में संचालित होंगे, जिसमें अलग-अलग कक्षाओं के विद्यार्थियों को बुलाया जाएगा। (पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें)

असम: असम स्कूलों को फिर से खोलने पर विचार करने वाले पहले राज्यों में से एक था। यहां उन शिक्षकों के लिए परीक्षण अभियान भी शुरू कर दिया गया था, जिन्हें 1 सितंबर 2020 से ड्यूटी के लिए बुलाया जाना था। हालांकि, कोरोना मामलों की संख्या में अचानक आई तेजी और परीक्षण सुविधाओं की अनुपलब्धता के बाद उस निर्णय को रोक दिया गया है।

आंध्र प्रदेश: वाईएसआर जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व में आंध्र प्रदेश सरकार ने राज्य में स्कूलों को फिर से खोलने के लिए गाइडलाइन जारी कर दी है। राज्य सरकार के हालिया निर्देश के अनुसार, 50 प्रतिशत शिक्षण और 50 प्रतिशत गैर-शिक्षण कर्मचारियों को स्कूल जाने की अनुमति दी गई है। अनलॉक 4.0 दिशानिर्देशों के अनुसार, छात्रों को अपने अभिभावकों से लिखित सहमति के बाद स्कूल आने की अनुमति दी जाएगी।

दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली COVID-19 महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में से एक है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 30 सितंबर 2020 तक राज्य के सभी शिक्षण संस्थानों को बंद रखने का फैसला किया है। हालांकि, कक्षा 9 से 12 के छात्रों को स्वैच्छिक आधार पर स्कूल जाने की विशेष अनुमति दी गई है। इस बीच राज्य सरकार छोटी कक्षाओं के लिए ऑनलाइन शिक्षा जारी रखेगी।

हरियाणा: केंद्र सरकार की अनुमति के बाद स्कूलों को फिर से खोलने की इच्छा दिखाने वाले पहले राज्यों में से एक हरियाणा सरकार 21 सितंबर से स्वैच्छिक कक्षाएं शुरू करने की योजना बना रही है। इससे पहले पिछले हफ्ते, हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल सिंह गुर्जर ने कहा था कि राज्य एक बार फिर से स्कूल खोलने के लिए तैयार है।स्कूलों के स्वच्छता के लिए अतिरिक्त बजट को मंजूरी दी। यहां अभिभावकों की मंजूरी के बाद ही छात्र स्कूल आ पाएंगे।

झारखंड: झारखंड सरकार 9वीं और उससे ऊपर की कक्षाओं के लिए स्कूल फिर से खोलने जा रही है। झारखंड के राज्य शिक्षा मंत्री वैद्यनाथ महतो ने इससे पहले छात्रों की ऑनलाइन एजुकेशन की गुणवत्ता पर चिंता व्यक्त की थी। उन्होंने कहा था कि राज्य के शहरी क्षेत्रों में केवल 27% छात्रों की ऑनलाइन कक्षाओं तक पहुंच है और ग्रामीण क्षेत्रों में यह संख्या और भी कम है। इन चिंताओं के अनुरूप, राज्य सरकार ने कक्षा 10 और 12 के छात्रों के लिए 21 सितंबर से स्कूलों को फिर से खोलने की योजना बनाई है।

उत्तर प्रदेश: यूपी सरकार 9 वीं से 12 वीं कक्षा के छात्रों के लिए स्कूलों को फिर से खोलने के संबंध में गृह मंत्रालय के दिशानिर्देशों का पालन कर सकती है। राज्य सरकार 21 सितंबर 2020 से शुरू होने वाले सत्रों के लिए कॉलेजों, विश्वविद्यालयों को फिर से खोलने पर भी विचार कर रही है। हालांकि इस बारे में अंतिम निर्णय उप-मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा लेंगे। कक्षा 10 और 12 के लिए दूरदर्शन यूपी के माध्यम से और कक्षा 9 और 11 के लिए अन्य चैनल के माध्यम से छात्रों के लिए नियमित रूप से ऑनलाइन/आभासी कक्षाएं आयोजित कर रही है।

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र की वाणिज्यिक राजधानी मुंबई कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित है। यही कारण है कि राज्य सरकार ने 30 सितंबर 2020 तक स्कूलों को बंद रखने का फैसला किया है। हालांकि, अनलॉक 4.0 दिशानिर्देशों के अनुसार, कक्षा 9-12 से छात्रों को स्वैच्छिक आधार पर स्कूलों आने की अनुमति दे सकता है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020