बुलंदशहर। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में एक दर्दनाक सड़क हादसा हुआ है जिसमें 7 लोगों की मौत हो गई है। यह हादसा तब हुआ जब एक तेज रफ्तार बस ने सड़क किनारे सो रहे लोगों को कुचल दिया। बताया जा रहा है कि मारे गए सभी लोग श्रद्धालु थे। मरने वालों में चार महिलाएं और तीन बच्चे शामिल हैं। शुरुआती जानकारी के अनुसार यह सभी माता वैष्णो देवी के दर्शन कर लौटे थे और गंगा स्नान के बाद वहीं सड़क किनारे सो गए थे। हादसा इतना दर्दनाक था कि बस की चेपट में आने वाले सभी लोगों की मौते पर ही मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार घटना शुक्रवार अल सुबह की है जब बस ड्राइवर ने सड़क किनारे सो रहे श्रद्धालुओं पर बस चढ़ा दी। हाथरस जनपद के थाना चंदपा क्षेत्र निवासी एक परिवार अन्य ग्रामीणों एवं रिश्तेदारों के साथ बस द्वारा तीर्थयात्रा पर निकला था। वैष्णो देवी से दर्शन कर लौटे सभी यात्री शुक्रवार की सुबह लगभग 2 बजे नरौरा के गांधी गंगा घाट पर पहुंचे। जहां यात्री बस से उतर कर बस के पास ही सड़क किनारे पर सो गए। लगभग चार बजे तीर्थ यात्रियों से भरी एक दूसरी बस ने सड़क किनारे सो रहे यात्रियों को कुचल दिया। जिसमें 3 मासूम बच्चियां एवं 4 महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई।

लोगों को कुचलने के बाद बस ड्राइवर मौके से फरार हो गया है और पुलिस ने बस को कब्जे में लेने के बाद आरोपी ड्राइवर की तलाश शुरू कर दी है। दूसरी तरफ इस दर्दनाक दुर्घटना के बाद इलाके के लोगों में गुस्सा व्याप्त है। घटना की जानकारी मिलने पर रामघाट व डिबाई पुलिस के साथ सीओ डिबाई विक्रम सिंह व एसडीएम डिबाई संजय कुमार मौके पर पहुँच गए। इस दौरान लोगों ने हंगामा भी किया जिसके बाद पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में ले लिया है।