वाराणसी। सोनभद्र में 17 जुलाई को जमीन विवाद में 10 लोगों की हत्या कर दी गई थी। इस नरसंहार के दौरान 28 लोग घायल भी हो गए थे। इस घटना ने पूरे प्रदेश को हिला दिया था। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शुक्रवार को इस घटना में घायल हुए लोगों से वाराणसी के अस्पताल में मुलाकात की। इस दौरान डॉक्टरों से प्रियंका ने उनकी सेहत को लेकर चर्चा भी की।

इसके बाद प्रियंका गांधी सोनभद्र के लिए रवाना हुई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोनभद्र पहुंचने के पहले ही प्रियंका गांधी के काफिले को नारायणपुर पुलिस चौकी के पास रोक लिया गया। इससे नाराज प्रियंका के धरने पर बैठने की जानकारी सामने आ रही है।

प्रियंका गांधी ने उनके काफिले को रोके जाने पर नाराजगी जताते हुए कहा कि उन्हें बताया जाए कि पीड़ित परिवारों से मिलने से क्यों रोका जा रहा है।

वहीं सोनभद्र नरसंहार मामले को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि इस मामले के दोषियों को नहीं बख्शा जाएगा। उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

नरसंहार की ये थी वजह

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में जमीन विवाद ने नरसंहार का रूप ले लिया था। जमीन विवाद ने 10 लोगों की जान ले ली थी। सोनभद्र के घोरावल कोतवाली क्षेत्र में स्थित ग्राम पंचायत मूर्तिया के ग्राम उभ्भा में बुधवार को भूमि विवाद को लेकर हुए दो पक्षों में संघर्ष में 10 लोगों की मौत हो गई थी जबकि 28 घायल हो गए थे। विवाद के बाद दोनों पक्षों में गोली के साथ ही लाठी, गड़ासा भी जमकर चला था।