कोलकाता। Jadavpur University में केंद्रीय पर्यावरण व वन राज्यमंत्री बाबुल सुप्रियो को पर छात्रों ने हमला कर दिया। उनके साथ झूमाझटकी भी की गई और उन्‍हें खींचने की भी कोशिश की गई।

यहां वह एक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए यूनिवर्सिटी पहुंचे थे। तभी छात्रों ने उन्हें GO BACK नारे लगाना शुरू कर दिया। जैसे ही बाबुल परिसर में पहुंचे छात्रों के एक समूह ने उन पर हमला बोल दिया।

राज्यपाल जगदीप धनखड़ उन्हें छुड़ाने पहुंचे तो उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा। राज्यपाल ने बाबुल को छात्रों के घेरे से निकालकर अपनी कार में बिठाया। राज्यपाल शाम करीब 7 बजे मौके पर पहुंचे थे और रात करीब 8.15 बजे बाबुल को लेकर उनकी गाड़ी निकल पाई।

आरोप है कि हमलावर छात्र उनका कॉलर पकड़ कर बाहर खींचने लगे थे। अंगरक्षकों ने विरोध किया तो हमलावर छात्र उन पर भी टूट पड़े। इस दिन ABVP की तरफ से विश्वविद्यालय में कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। इस घटना के बाद से परिसर में काफी तनाव का माहौल बन गया था।

नक्‍सलपंथी हो सकते हैं ये छात्र

बताया गया है कि नक्सलपंथी छात्रों ने इस तरह की हरकत की है। विरोध-प्रदर्शन के दौरान केंद्रीय मंत्री के साथ धक्का-मुक्की और बदसुलूकी करने का भी आरोप लगाया गया है। इस धक्का-मुक्की में केंद्रीय मंत्री गिर पड़े। उनका कुर्ता भी फाड़ दिया गया।

ममता बनर्जी को लगाया फोन

राज्यपाल ने घटना को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी एवं राज्य के मुख्य सचिव को भी फोन किया। मुख्य सचिव को अविलंब उचित कदम उठाने का निर्देश दिया। कहा कि इस घटना की शुरुआत में ही कुलपति सुरंजन दास को कदम उठाना चाहिए था। उन्होंने कुलपति से मामले की रिपोर्ट तलब की है। BJP के राष्‍ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने बंगाल में यदि गणतंत्र नहीं है, तो इसमें सबसे बड़ा हाथ 34 साल की वामपंथी सरकार का है।

लगातार दूसरी बार सांसद बने हैं सुप्रियो

बाबुल सुप्रियो पश्चिम बंगाल के आसनसोल से सांसद हैं। वे लगातार दूसरी बार सांसद बने हैं। उन्होंने लोकसभा चुनाव-2019 में आसनसोल संसदीय सीट से जीत दर्ज की। उन्होंने TMC की उम्मीदवार मुनमुन सेन को करारी शिकस्त दी थी। सुप्रियो ने 2014 में भी आसनसोल से जीत दर्ज की थी। तब भाजपा को बंगाल में 2 ही सीट मिली थी।