Surgical Strike: कांग्रेस नेता राहुल गांधी की 'भारत जोड़ो यात्रा' अभी जम्मू में है। यहां सेना से जुड़े मुद्दों पर कांग्रेस नेताओं की बयानबाजी तेज हो गई है। राहुल गांधी ने जम्मू के सतवारी में कहा अग्नि वीर योजना भारतीय सेना को कमजोर करने की साजिश है।

वहीं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल उठाए हैं। राहुल गांधी के साथ भारत जोड़ो यात्रा में हिस्सा ले रहे दिग्विजय सिंह ने यह विवादित बयान दिया।

दिग्विजय सिंह ने एक रैली में कहा, ‘पुलवामा में हमारे 40 जवान शहीद हुए। इसकी कोई रिपोर्ट आज तक पेश नहीं की गई। सरकार ने इसकी पूरी जानकारी संसद में नहीं दी।’

इसी क्रम में आगे बढ़ते हुए दिग्विजय सिंह ने सेना की सर्जिकल स्ट्राइक पर भी सवाल उठाया और कहा कि आज तक सर्जिकल स्ट्राइक के प्रमाण देश के सामने नहीं रखे गए।

बकौल दिग्विजय सिंह, ‘आज देश में लोकतंत्र को खत्म किया जा रहा है। जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 खत्म किया गया, लेकिन इसका फायदा किसे हुआ।’

‘तब सरकार ने कहा था कि आर्टिकल 370 हटने से आतंकवाद खत्म हो जाएगा, लेकिन सच्चाई यह है कि आतंकवाद बढ़ गया है।’

दिग्विजय सिंह के बयान पर भाजपा का पलटवार

दिग्विजय सिंह के बयान पर भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने जवाब दिया। अमित मालवीय ने कहा, कांग्रेस ने 2019 का चुनाव इसी मुद्दे पर लड़ा था और उसे मुंह की खाना पड़ी थी।

एक बार फिर राहुल गांधी के करीबी दिग्विजय सिंह जैसे नेता सेना के शौर्य पर सवाल उठा रहे हैं। पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई के बाद खुद सेना ने बयान जारी किया था। अब सवाल उठाना, सेना पर सवाल उठाना है।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close