Target Killing in Kashmir: कश्‍मीर में टारगेट किलिंग अभी थमी नहीं है। इस क्रम में आज एक और घटना सामने आई है। यहां शोपियां में एक सेब के बाग में आतंकवादियों द्वारा की गई गोलीबारी में एक नागरिक की मौत हो गई और एक अन्य घायल हो गया। दोनों हिंदू हैं। कश्मीर पुलिस ने अपने आधिकारिक हैंडल से ट्वीट किया कि आतंकवादियों ने शोपियां के चोटीपोरा इलाके में एक सेब के बाग में नागरिकों पर गोलीबारी की। एक व्यक्ति की मौत हो गई और एक घायल हो गया। दोनों अल्पसंख्यक समुदाय से हैं। घायल व्यक्ति को अस्पताल में दाखिल दिया गया है। क्षेत्र की घेराबंदी कर दी गई है। भारतीय जनता पार्टी की जम्मू-कश्मीर इकाई के प्रवक्ता अल्ताफ ठाकुर ने कहा कि वह 'आतंक के कायराना कृत्य की कड़ी निंदा करते हैं'।

उन्होंने कहा, "शोपियां में निर्दोष बहुसंख्यक समुदाय के सदस्यों पर आतंक के कायरतापूर्ण कृत्य की कड़ी निंदा करता हूं, जिसमें एक अल्पसंख्यक समुदाय का सदस्य सुनील कुमार मारा गया और एक अन्य घायल हो गया। आतंक का कोई धर्म नहीं होता। हत्यारों को दंडित किया जाना चाहिए। 24 घंटे से भी कम समय में कश्मीर में गैर-प्रवासी पंडितों पर यह दूसरा हमला है।

इससे पहले सोमवार को, जब देश अपना 75 वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा था, तब आतंकवादियों ने बडगाम में एक घर पर ग्रेनेड फेंका और करण कुमार सिंह के रूप में पहचाने जाने वाले एक नागरिक को घायल कर दिया। उसी दिन एक अलग हमले में, आतंकवादियों ने श्रीनगर के बटमालू इलाके में एक पुलिस नियंत्रण कक्ष पर ग्रेनेड फेंका। एक पुलिस कर्मी घायल हो गया।

दोनों हमले श्रीनगर के नौहट्टा में आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ के एक दिन बाद हुए। एक पुलिस कांस्टेबल सरफराज अहमद की मौत हो गई। मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) का एक आतंकवादी घायल हो गया। कश्मीर में स्वतंत्रता दिवस के मद्देनजर कड़ी सुरक्षा के बावजूद रविवार और सोमवार को किए गए चार हमलों में कुल मिलाकर दो पुलिसकर्मियों की मौत हो गई और एक नागरिक सहित दो अन्य घायल हो गए।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close