गंगटोक। सिक्किम में सबसे लंबे समय तक राज करने वाले पवन कुमार चामलिंग को बड़ा झटका लगा है। राज्य में उनकी पार्टी के 10 विधायक उन्हें छोड़कर भाजपा में शामिल हो गए हैं। इन विधायकों ने मंगलवार को पार्टी की सदस्यता ग्रहण की और फिर भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की।

जानकारी के अनुसार राज्य में डेमोक्रेटिक फ्रंट की स्थापना करने वाले पवन कुमार चामलिंग की पार्टी में अब 5 ही विधायक बचे हैं और इसके साथ ही वो राज्य में तीसरे नंबर की पार्टी बन गई है। हालांकि, इससे पहले खबर आई थी कि भाजपा में सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट के सभी 15 विधायक भाजपा में शामिल होंगे।

बता दें कि हाल ही में हुए राज्य विधानसभा चुनाव में चामलिंग अपनी 25 साल की सत्ता नहीं बचा पाए और राज्य की 6 साल पुरानी सिक्किम क्रांतिकारी पार्टी ने उन्हें मात दे दी थी।

अब चामलिंग के सभी 15 विधायकों ने उन्हें छोड़कर भाजपा का दामन थामने की तैयारी कर ली है। अगर यह संभव होता है तो भाजपा विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टी बन जाएगी क्योंकि चुनाव में कुल 32 सीटों में से 17 सिक्किम क्रांतिकारी पार्टी ने 17 और चामलिंग की डेमोक्रेटिक पार्टी ने 15 सीटों पर जीत दर्ज की थी।