नई दिल्ली list of Indian celebrity who brand ambassador of Coca Cola। पुर्तगाली सुपरस्टार फुटबॉलर क्रिस्टियानो रोनाल्डो का एक वीडियो हाल ही में काफी वायरल हो रहा है, जिसके कारण कोका कोला कंपनी को 4 अरब डॉलर का नुकसान हो चुका है। क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने यूरोपीय चैम्पियनिशप में प्रेस कांफ्रेस के दौरान हाल ही अपने सामने टेबल पर रखी कोका-कोला की बोतल को हटा दी थी और इसे स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक बताया था। इसके बाद से कोका कोला कंपनी की ब्रांड वैल्यू में 4 अरब डॉलर की कमी आई है।

फिटनेस को लेकर सतर्क रहते हैं रोनाल्डो

हमेशा अपनी फिटनेस को लेकर सतर्क रहने वाली रोनाल्डो ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मैं सिर्फ साफ पानी पीना पसंद करता है। कोका कोला की बोतल हटाने से पहले भी रोनाल्डो कार्बोनेटिड पेय पदार्थों के प्रति अपनी असहजता के बारे में बात कर चुके हैं।

अब भारतीय सेलिब्रिटी पर भी उठ सकते हैं सवाल

कोका कोला की बोतल हटाने के बाद एक तरफ जहां कंपनी की ब्रांड वैल्यू में अरबों डॉलर की कमी आ रही है और सोशल मीडिया पर लोग इसके खिलाफ बोल रहे हैं, वहीं रोनाल्डो के इस कदम की सभी तारीफ कर रहे हैं और कार्बोनेटिड पेय पदार्थों को स्वास्थ्य के लिए हानिकारक बता रहे हैं। इस विवाद में अब ऐसे भारतीय सेलिब्रिटी भी सवालों के घेरे में सकते हैं, जो भारत में पहले कोका कोला कंपनी के Brand Ambassador रह चुके हैं।

भारत में ये फिल्मी हस्तियों रह चुकी कोका कोला की Brand Ambassador

सलमान खान

ऐश्वर्या राय बच्चन

आमिर खान

फरहान अख्तर

आलिया भट्ट

सिद्धार्थ मल्होत्रा

दीपिका पादुकोण

ऋतिक रोशन

इमरान खान

वरुण धवन

दिलजीत दोसांझो

बैडमिंटन खिलाड़ी गोपीचंद ने ठुकरा दिया था प्रस्ताव

भारत के स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी गोपीचंद उन सेलिब्रिटी में शामिल हैं, जिन्होंने कोका कंपनी का प्रचार करने से साफ इंकार कर दिया था। यह बात साल 2002 की है, जब गोपीचंद ने 2001 में बैडमिंटन के सबसे प्रतिष्ठित टूर्नामेंट ऑल इंग्लैंड चैंपियनशिप में मेंस सिंगल्स का खिताब जीता था।

इससे पहले ऐसी उपलब्धि सिर्फ प्रकाश पादुकोण के नाम दर्ज थी। गोपीचंद दूसरी ऐसे खिलाड़ी थे, जिन्हें यह खिलाब हासिल हुआ था। इसके बाद कोका कोला कंपनी ने 2002 की शुरुआत में उन्हें अपना ब्रैंड एम्बेसडर बनाने की कोशिश की थी, लेकिन गोपीचंद ने इससे साफ इनकार कर दिया था। जबकि उस समय गोपीचंद की आर्थिक स्थिति ज्यादा अच्छी नहीं थी और तब वे अपने माता-पिता के साथ किराए के मकान में रहते थे।

Posted By: Sandeep Chourey