मल्टीमीडिया डेस्क। शिवसेना और ठाकरे परिवार की राजनीति की जब बात होती है उद्धव ठाकरे और उनके बाद उनके पुत्र आदित्य ठाकरे के नाम आम आदमी के जेहन में आते हैं, लेकिन ठाकरे परिवार के कुनबे में एक और शख्सियत है, जो फिलहाल शोहरत की चकाचौंध से दूर और कम चर्चित है, लेकिन सियासत की राह में उनके कदम भी धीरे-धीरे आगे बढ़ रहे हैं। ठाकरे परिवार की इस युवी शख्सित का नाम है तेजस ठाकरे, जो उद्धव ठाकरे के छोटे बेटे हैं और अब शिवसेना की सियासत में दिलचस्पी लेने लगे हैं।

कुछ समय पहले मुंबई विश्वविद्यालय सीनेट के चुनाव में युवा सेना की जीत पर पार्टी के मुखपत्र में अभिनंदन का विज्ञापन प्रकाशित किया गया था, इस इश्तेहार में दिवंगत शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे, शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे के साथ ही पहली बार तेजस ठाकरे की भी तस्वीर छापी गई। इसके बाद से इस बात की चर्चा शुरू हो गई की तेजस की जल्द ही सियासत में इंट्री हो सकती है। तेजस वैसे राजनीति में कम दिलचस्पी लेते हैं और कभी-कभार ही पार्टी की बैठकों का हिस्सा होते हैं। विधानसभा चुनाव के दौरान वो अहमदनगर जिले के संगमनेर की एक रैली में आए थे। हालांकि उद्धव ठाकरे तेजस के राजनीति में आने की बात को सिरे से खारिज करते हैं।

कुछ समय पहले वह उस वक्त चर्चा में आए थे जब उनके नाम पर एक सांप का नाम रखा गया था। महाराष्ट्र के पश्चिमी घाट में सांप की एक नई प्रजाति खोजी गई थी। पुणे स्थित फाउंडेशन फॉर बायोडायवर्सिटी कंजर्वेशन के निदेशक वरद गिरी के मुताबिक इस प्रजाति का खोज में तेजस का अहम योगदान रहा है। इसलिए उसको `ठाकरे कैट स्नेक' रखा गया।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस