राजस्थान के भरतपुर में एक कोरोना पीड़ित महिला पिछले पांच माह में 31 बार जांच करा चुकी है, लेकिन प्रत्येक जांच में उनकी रिपोर्ट पाजिटिव आ रही है। आमतौर पर कोरोना 14 दिन में पूरा हो जाता है। मगर भरतपुर के अपना घर आश्रम में रह रहीं 30 वर्षीय शारदा देवी पिछले पांच माह से कोरोना से जूझ रही है। इस दौरान शारदा देवी के 17 बार आरटीपीसीआई और 14 बार रैपिड एंटीजन टेस्ट कराए, जिनकी रिपोर्ट में वे पाजिटिव मिलीं। इस दौरान उन्हे एलोपैथी, आयुर्वेदिक और होम्योपैथी की दवा दी गई, लेकिन शारदा देवी को इन से कोई फायदा नहीं हुआ। वे इलाज के लिए अभी तक 45 लीटर काढ़ा पी चुकी हैं। अपना घर आश्रम के संचालक और अध्यक्ष डा. बीएम भारद्वाज का कहना है कि शारदा देवी को जब यहां लाया गया था तो उनका वजन काफी कम था। वह काफी बीमार थीं। उनकी जांच कराई तो वे कोरोना पाजिटिव मिलीं। आश्रम में उनका ध्यान रखा गया तो वजन आठ किलो बढ़ गया। पहले उनका वजन सिर्फ 30 किलो था, जो कि अब बढ़कर 38 किलो हो गया है। संभवतया यह देश का ऐसा पहला मामला होगा, जिसमें पांच माह से रिपोर्ट पाजिटिव आ रही है। वे खुद को पूरी तरह से स्वस्थ महसूस कर रही हैं। उन्हें आश्रम में बनाए गए एक आइसोलेशन रूम में रखा गया है। अब तक उनके 31 बार टेस्ट कराए गए हैं। अब सोमवार को 32वीं बार जांच होगी। अपना घर आश्रम में बेसहारा लोगों को रखा जाता है।

शारदा देवी को करीब सात माह पूर्व यहां लाया गया था। भरतपुर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डा. कप्तान सिह का कहना है कि अब टेस्ट की कोई जरूरत नहीं है। उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है, लेकिन उनके लक्षण देखकर लगता है कि उनका वायरस खत्म हो चुका। किसी कारण रिपोर्ट पाजिटिव आ रही है। मगर खतरे की कोई बात नहीं है। शारदा देवी का भी कहना है कि मैं पूरी तरह से स्वस्थ हूं।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags