Tiddi Dal Attack : दो दिन के दौरान हरियाणा में सैकड़ों एकड़ फसल को नुकसान पहुंचाकर टिड्डियां राजस्थान की तरफ बढ़ गई हैं। सिरसा में कृषि विभाग ने करीब 900 एकड़ में नुकसान का अनुमान लगाया है। डीसी ने सोमवार को कृषि विभाग के अधिकारियों से भी रिपोर्ट मांगी है। टिड्डी दल शनिवार दोपहर बाद राजस्थान से सिरसा में प्रवेश कर गया था और चिकलनी ढाब, रंगड़ी, शहीदांवाली, मंगाला, चौबुर्जा, धिगतानिया, नटार में मंडराने लगा। छोटे-छोटे झुंडों में टिड्डी बैठती रही। शनिवार की रात को ही उमेदपुरा, केसुपुरा, माधोसिघाना, कोटली व अन्य गांवों में टिड्डियां बैठ गई और इन्हें यहीं मारने का अभियान चला। कुछ टिड्डियों को रविवार को भी मारा गया जबकि एक बड़ा दल वापस राजस्थान की तरफ चला गया। चरखी दादरी में रविवार शाम टिड्डी दल पर नियंत्रण पाने के लिए आपरेशन शुरू किया गया, जो सोमवार सुबह छह बजे तक जारी रहा। कृषि विभाग द्वारा 43 घंटे की मशक्कत के बाद टिड्डी दल पर काबू पाया गया है।

सरकार के आदेश पर होती है स्पेशल गिरदावरी

टिड्डियों से हुए नुकसान को लेकर अभी गिरदावरी के आदेश नहीं हुए हैं। स्पेशल गिरदावरी के आदेश राज्य सरकार की ओर से राजस्व विभाग को दिए जाते हैं और फिर स्थानीय स्तर पर गिरदावरी होती है। किसानों ने भिवानी में कृषि मंत्री से विशेष गिरदावरी करवाए जाने की मांग उठाई है।

अभी खतरा टला नहीं

प्रशासन के अनुसार टिड्डियां राजस्थान में हैं जो एक दिन में 200 किमी तक उड़ सकती हैं। इसलिए यह नहीं कहा जा सकता है कि टिड्डियां नहीं आएंगी। डीसी आरसी बिढ़ान ने कहा कि अभी हम सतर्क हैं। राजस्थान में तैनात केंद्रीय टीम के संपर्क में हैं ताकि हमारी दिशा में टिड्डियां उड़ने पर सूचना दे दें और समय रहते कंट्रोल किया जा सके। कृषि विभाग से नुकसान के बारे में रिपोर्ट मांगी गई है।

Posted By: Navodit Saktawat