Twitter से जुड़े विवाद थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। ताजा मामला बच्चों से जुड़ी अश्लील सामग्री फैलाने का है। खबर के मुताबिक, केंद्र के साथ चल रही खींचतान के बीच दिल्ली पुलिस साइबर सेल ने पोक्सो अधिनियम और आईटी अधिनियम के तहत माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट के खिलाफ केस दर्ज किया है। यह मामला प्लेटफॉर्म पर चाइल्ड पोर्नोग्राफिक सामग्री की अनुमति देने का है। यह मामला राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) द्वारा दायर एक शिकायत के आधार पर दर्ज किया गया था। ट्विटर के खिलाफ यह चौथा मामला है क्योंकि इसने भारत में सामग्री के लिए कानूनी छूट खो दी है।

समाचार एजेंसी ANI ने दिल्ली पुलिस के हवाले से बताया कि दिल्ली पुलिस साइबर सेल ने एनसीपीसीआर की शिकायत के आधार पर ट्विटर के खिलाफ पोक्सो एक्ट और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है, जिसमें बाल शोषण से संबंधित लिंक / सामग्री की उपलब्धता का हवाला दिया गया है। शिकायत ट्विटर इंक और ट्विटर कम्युनिकेशन इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ है।

एनसीपीसीआर ने शिकायत की है कि बच्चों से जुड़ी ऐसी अश्लील सामग्री लगातार ट्विटर पर पोस्ट की जा रही है। आयोग ने इस संबंध में साइबर सेल और दिल्ली पुलिस प्रमुख को दो पत्र सौंपे थे और साइबर सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी को 29 जून को उसके सामने पेश होने का आदेश दिया था।

दिखाया था भारत का गलत नक्शा: ट्विटर के खिलाफ यह ताजा मामला तब आया है जब ट्विटर ने हाल ही में दुनिया का नक्शा जारी किया था, जिसमें जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को भारत का हिस्सा नहीं दिखाया था। इस पर बवाल मचा और सरकार ने आंखें दिखाई तो नक्शा हटा लिया गया। वहीं इस महीने की शुरुआत में गाजियाबाद पुलिस ने एक मुस्लिम व्यक्ति पर हमले का आरोप लगाते हुए एक वायरल पोस्ट के संबंध में ट्विटर के खिलाफ मामला दर्ज किया था। यह मामला अब सुप्रीम कोर्ट में विचाराधीन है।

Posted By: Arvind Dubey