श्रीनगर। नगर के सुतु कोठर बाग (नौगाम) में सुरक्षाबलों ने बुधवार को एक मकान में छिपे हिजबुल मुजाहिदीन के दो स्थानीय आतंकियों सब्जार अहमद और आसिफ अहमद गोजरी को मार गिराया। आतंकी सब्जार पर पांच लाख व आतंकी गोजरी पर तीन लाख रुपये का इनाम था।

मुठभेड़ में छह सुरक्षाकर्मी भी घायल हो गए। वहीं आतंकियों की मौत के बाद नौगाम, बड़गाम, अनंतनाग, बिजबिहाड़ा और पुलवामा के विभिन्न हिस्सों में हुई हिसक झड़पों में छह लोग घायल हो गए। स्थिति पर काबू पाने के लिए प्रशासन ने सभी संवेदनशील इलाकों में निषेधाज्ञा लागू करने के साथ ही इंटरनेट सेवाओं को भी बंद कर दिया। सभी शिक्षण संस्थानों में भी अवकाश घोषित कर दिया गया।

हिज्ब आतंकी सब्जार अहमद उर्फ डॉ. सैफुल्ला उर्फ तजुम्मल और आसिफ अहमद गोजरी उर्फ खुबैब जिस मकान में छिपे थे, वह नौगाम थाना और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के निजी मकान से करीब 300 मीटर की दूरी पर ही स्थित है।

एसएसपी, श्रीनगर इम्तियाज इस्माइल पर्रे ने बताया कि हमें सूचना मिली थी कि दक्षिण कश्मीर के कुछ आतंकी श्रीनगर में दाखिल होने के प्रयास में हैं। इस आधार पर सभी संदिग्ध तत्वों की निगरानी शुरू की गई और मंगलवार रात पता चला कि दो आतंकी नौगाम के वन्नबल इलाके में हैं। इसके बाद सुतु कोठर बाग इलाके में तलाशी अभियान चलाया गया।

आधी रात के बाद करीब ढाई बजे आतंकियों ने फायरिग कर दी। सुरक्षाबलों के जवानों ने भी जवाबी फायर किया। इस दौरान आतंकियों को कई बार आत्मसमर्पण करने के लिए कहा गया, लेकिन उन्होंने फायरिग जारी रखी। आतंकियों की गोलियों का जवाब देते हुए ही सुरक्षाबलों के जवानों ने आतंकी ठिकाने के आसपास स्थित घरों से करीब तीन दर्जन लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया।

एसएसपी ने बताया कि सुबह करीब साढ़े पांच बजे तक दोनों तरफ से गोलियों की बौछार होती रही। इस दौरान आतंकी ठिकाना बना मकान भी आग लगने से तबाह हो गया और उसमें छिपे दोनों आतंकी मारे गए। दोनों आतंकियों के शव बरामद कर लिए गए हैं। उनके शवों के पास से हथियार और कई दस्तावेज मिले हैं।

मुठभेड़ में सेना के चार और राज्य पुलिस के दो जवान जख्मी हुए हैं। इन सभी का अस्पताल में इलाज चल रहा है। एसएसपी के मुताबिक 12वीं पास गोजरी जनवरी, 2017 में आतंकी बना था, जबकि जामिया मिलिया में पीएचडी के लिए प्रवेश लेने वाले सब्जार ने जुलाई, 2016 में आतंकवाद का रास्ता चुना था।

मुठभेड़ स्थल पर न जाएं लोग

पुलिस ने सुतु कोठर बाग में मुठभेड़स्थल और उसके साथ सटे कुछ घरों को सील करते हुए आम लोगों की आवाजाही पर रोक लगा दी है। लोगों से कहा गया है कि जब तक मुठभेड़स्थल को सुरक्षित घोषित न किया जाए, वहां न जाएं। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि मुठभेड़स्थल पर आतंकियों द्वारा फेंके गए ग्रेनेड फटे नहीं थे। इसके अलावा वहां कुछ आइईडी(इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस) भी है।

गौरतलब है कि गत रविवार को कुलगाम मुठभेड़ में तीन आतंकियों के मारे जाने के बाद लोग मुठभेड़स्थल पर जमा हो गए थे। इसी दौरान एक ग्रेनेड फटने से सात लोग मारे गए थे।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020