नई दिल्‍ली। उबेर कैब के ड्राइवर शिव यादव ने पुलिस की पूछताछ में खुद को कामदेव बताया। उसने कहा कि कोई भी लड़की मुझे शारीरिक संबंध बनाने से इंकार नहीं कर सकती। पुलिस अधिकारियों को आशंका है कि वह एक साइको रेपिस्‍ट है।

यादव को शुक्रवार को एक बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करने वाली 26 वर्षीय महिला के साथ दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। पुलिस से पूछताछ के दौरान यादव ने यह बताया कि महरौली क्षेत्र में 2011 के एक और दुष्कर्म के आरोप में वह सात माह तिहाड़ जेल में रह चुका है। हालांकि, बाद में वह छूट गया था। अब तक की जांच से उसके तीन मामले में संलिप्त होने का पता चला है। हालांकि, इसमें से एक मामले में युवती ने मुकदमा दर्ज कराने से इन्कार कर दिया था।

शुक्रवार देर रात करीब 12.30 बजे उसने कंपनी मैनेजर के निर्देश पर एनालिस्ट युवती को वसंत विहार स्थित एक होटल से बैठाया था। देर रात करीब 1.10 बजे रिज इलाके में सुनसान जगह पर कैब रोककर उसने दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया था और 1.25 बजे युवती को घर के पास छोड़कर फरार हो गया था।

वारदात के बाद शिव कुमार ने अपना आइफोन बंद कर दिया था। कंपनी से जुड़ने के बाद उसे आइफोन दिया गया था। वारदात को अंजाम देने के बाद वह मथुरा के धौला पियाऊ स्थित घर चला गया था। इस मामले के सामने आने के बाद से केंद्र सरकार ने उबेर कैब सेवा पर बैन लगा दिया था।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket