Udaipur Kanhaiya Lal Murder। उदयपुर के कन्हैयालाल की निर्मम हत्या के मामले में एनआईए ने जांच शुरू कर दी है। दोनों हत्यारों रियाज अहमद और गौस मोहम्मद के बारे में NIA के सूत्रों ने बताया कि राजस्थान के 8 जिलों में ISIS के लिए स्लीपर सेल तैयार करने में जुटे थे। उदयपुर, भीलवाड़ा, अजमेर, राजसमंद, टोंक, बूंदी, बांसवाड़ा,जोधपुर जिलों में धर्म के नाम पर दोनों आरोपी युवाओं का ब्रेनवॉश कर रहे थे। अरब देशों से इन्हें फंडिंग भी मिल रही थी। साथ ही इस बात का भी खुलासा हुआ है कि कन्हैया लाल को जिस हथियार से मारा गया था, वह हथियार भी दोनों ने खुद बनाया था। कन्हैया को मारते समय भी दोनों ने जहर उगलते हुए कहा था कि तुम काफिर हो। सऊदी अरब में वे सलमान और अबू इब्राहिम के लगातार सम्पर्क में थे, जो दावते-ए-इस्लाम संगठन से जुड़े थे।

पीड़ित परिवार से मिले CM अशोक गहलोत

टेलर कन्हैया लाल की नृशंस हत्या के बाद उपजे तनाव के बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज उदयपुर पहुंचकर पीड़ित परिवार के लोगों से मुलाकात की। पीड़ित परिवार ने कन्हैयालाल की निर्मम हत्या पर आक्रोश व्यक्त करते हुए जल्द से जल्द कार्रवाई की मांग की। वहीं पुलिस प्रशासन की लापरवाही की भी शिकायत की। यहां हैरान करने वाली बात ये है कि परिवार की शिकायत के बाद मुख्यमंत्री गहलोत ने इसे पुलिस की नाकामी बताया, वहीं बाहर निकलकर मीडिया के कहा कि इस मामले में पुलिस ने अच्छा काम किया। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के इस दोहरे जवाब से परिवार भी हैरान है। गौरतलब है कि राजस्थान में गृह विभाग खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत संभाल रहे हैं। टेलर कन्हैया लाल को बीते कई दिनों से धमकियां दी जा रही थी और उसने पुलिस से इस बात की शिकायत भी की थी। लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई न करते हुए कन्हैया लाल को ही जेल में डाल दिया था।

अब CM गहलोत बता रहे आतंकी घटना

हालांकि सर्वदलीय बैठक के बाद CM अशोक गहलोत ने कहा कि उदयपुर की घटना धार्मिक नहीं, बल्कि आतंकी घटना है। वहीं आरोपी पकड़े गए हैं। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस नेता सचिन पायलट ने कहा है कि फास्ट ट्रैक कोर्ट द्वारा उन्हें ऐसी सजा मिले जो देश, दुनिया में एक उदाहरण बने। पीड़ित परिवार के लोगों को सारी मदद प्रदान करेंगे। इस घटना में जो भी ज़िम्मेदार या कितना बड़ा कोई व्यक्ति या अधिकारी है, उस पर सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। सचिन पायलट ने कहा कि मैं इसे आतंकी हमला मानूंगा और सरकार ने भी कहा है कि इसे एक तरह से आतंकी हमले की नजर से ही देखना पड़ेगा।

NIA पाकिस्तानी एंगल से कर रही जांच

उदयपुर हत्याकांड में एनआईए ने भी जांच शुरू कर दी है। इस में राष्ट्रीय जांच एजेंसी हत्या करने वाले एक शख्स और पाकिस्तान के एक इस्लामी संगठन के बीच संभावित तार जुड़े होने की आशंका जता रही है। राजस्थान के डीजीपी ML लाठर ने कहा गौस मोहम्मद के पाकिस्तान के इस्लामिक संगठन दावत-ए- इस्लामी से तार जुड़े होने की संकेत मिले है और उसने 2014 में कराची का दौरा किया था।

परिवार से 20 साल से कटा है मोहम्मद रियाज

शुरुआती जानकारी में पता चला है कि कन्हैया लाल की हत्या का एक आरोपी मोहम्मद रियाज अत्तारी भीलवाड़ा जिले के आसींद का रहने वाला है, लेकिन वह 2001 में पिता मोहम्मद जब्बार लोहार की मौत के बाद से ही उदयपुर में आकर बस गया था और फिर अपने परिवार के संपर्क में नहीं रहा। मोहम्मद रियाज के कुल 9 भाई हैं और एक बहन है। 9 भाइयों में से 3 भाइयों की मौत हो चुकी है।

रियाज का परिवार बोला, मिले कठोर सजा

रियाज के परिवार के सदस्यों का भी कहना है कि परिवार के सुख-दुख में बीते 20 साल से शामिल नहीं हो रहा है। एक भाई की मौत पर भी वह नहीं आया था। आसींद में रहने वाले उसके भाई अब्दुल अय्यूब लोहार ने कहा कि रियाज 10वें नंबर का भाई है और रियाज की करतूत से हमारे परिवार की भीलवाड़ा में बदनामी हुई है। उसे कानून के अनुसार कठोर सजा मिलनी चाहिए। कन्हैया लाल की हत्या कर उसने राजस्थान का भाईचारा बिगाड़ा है।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close