Udaipur killing: उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के खिलाफ पूरे देश में गुस्सा है। दोनों आरोपियों, गौस मोहम्मद और रियाज अहमद को मंगलवार को ही गिरफ्तार कर लिया गया था। दोनों से पूछताछ की जा रही है। केंद्र सरकार ने केस राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को सौंप दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स में गॉस मोहम्मद और रियाज अहमद को लेकर बड़ा खुलासा किया गया है। रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि गॉस मोहम्मद और रियाज अहमद पाकिस्तान के स्लीपर सेल के रूप में काम कर रहे थे। इनके साथ और भी लोगों के होने का पता चला है, जिनकी धरपकड़ शुरू हो चुकी है। सूत्रों के मुताबिक, दोनों आरोपी पाकिस्तान स्थित एक मुस्लिम कट्टरपंथी संगठन दावत-ए-इस्लामी से जुड़े हैं।

आरोपी गौस मोहम्मद और रियाज अहमद को मंगलवार रात गिरफ्तार किया गया।उन्हें राजसमंद जिले के भीम इलाके से पकड़ा गया। राजसमंद उदयपुर का पड़ोसी जिला है। आरोपी खानजीपीर में वेल्डिंग की दुकान पर काम करता था। भीलवाड़ा का रहने वाला रियाज खानजीपीर, उदयपुर में किराए के मकान में रहता था, वहीं घौस राजसमंद के भीमा का रहने वाला है। सूत्रों के मुताबिक, अब दोनों के पाकिस्तान कनेक्शन की जांच की जा रही है।

आरोपियों द्वारा धमकी देने वाला वीडियो सामने आने के बाद सुरक्षा एजेंसियों ने अब पीएम मोदी की जान को खतरे का आकलन करने के लिए विस्तृत जांच शुरू कर दी है। वहीं भाजपा का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा पुख्ता है। भाजपा ने इसे आतंकी घटना बताते हुए राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार पर निशाना साधा।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close