संयुक्‍त किसान मोर्चा SKM ने आज भारत सरकार से बात करने के लिए 5 सदस्यीय कमेटी बनाई है। यह सरकार से बात करने के लिए अधिकृत निकाय होगा। समिति में बलबीर सिंह राजेवाल, शिव कुमार कक्का, गुरनाम सिंह चारुनी, युद्धवीर सिंह और अशोक धवले होंगे। राकेश टिकैत ने बताया क‍ि मोर्चा की अगली बैठक 7 दिसंबर को होगी। शनिवार को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक हुई जिसमें सरकार से एमएसपी पर बात करने के लिए पांच नाम तय कर दिए हैं। किसान नेताओं ने अनुसार फिलहाल एमएसपी की सपोर्ट नहीं रहने के कारण किसान परेशान होते हैं। उन्हें आर्थिक नुकसान का भी सामना करना पड़ता है। इस कारण सरकार अगर किसानों की सही में बेहतरी चाहती है तो एमएसपी पर जल्द से जल्द कानून बना कर आर्थिक स्थिति को सुधारे। केंद्र की मोदी सरकार ने किसानों की बेहतरी के लिए तीन नए कषि कानून लायी थी जिसके बाद किसानों ने इस पर नाराजगी दिखाई। इसके कुछ समय बाद ही किसानों का आंदोलन शुरू हो गया। केंद्र सरकार ने इन तीनों कानून को वापस ले लिए हैं। सरकार ने किसानों से यह कहा कि अब कानून वापस लिए जा चुके हैं तो आंदोलन खत्म कर दीजिए। इधर किसान नेता इस बात पर अड़ गए हैं कि किसान आंदोलन तभी खत्म होगा जब सरकार एमएसपी पर कानून बना दे। इसके अलावा संयुक्त किसान मोर्चा ने बताया कि कुछ और मांगों को सरकार को मानना होगा। वहीं, सरकार कमेटी बना कर एमएसपी पर बात करने के लिए रजामंद है।

Posted By:

  • Font Size
  • Close