University and College Re Open : कोरोना महामारी के चलते देश में बंद यूनिवर्सिटी और कॉलेज खोले जाने पर सभी की नज़रें हैं। इस पर 15 अगस्‍त के बाद निर्णय हो सकता है। सोमवार, 10 अगस्त को इस मामले की सुनवाई होने वाली है, जिसमें इसे लेकर अंतिम निर्णय आ सकता है। यदि इसे लेकर कोई नया मोड़ नहीं आया तो इसके बाद ही शैक्षणिक कैलेंडर जारी कर दिया जाएगा। UGC यूजीसी विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। वह 10 अगस्त के बाद इसे लेकर कभी भी अपना नया शैक्षणिक कैलेंडर जारी कर सकता है। इसमें विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के नए सत्र को शुरू करने और पिछले सत्रों की पढ़ाई को लेकर पूरा रोडमैप रहेगा। यूजीसी ने इसे लेकर विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के साथ रायशुमारी शुरू कर दी है। यूजीसी से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक विश्वविद्यालयों की अंतिम वर्ष की परीक्षाओं का मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित होने से फिलहाल नए शैक्षणिक कैलेंडर का काम स्थगित रखा गया था।

अगस्त से शुरू होनी थी दूसरे और तीसरे वर्ष की पढ़ाई

यूजीसी ने अंतिम वर्ष की परीक्षाओं को लेकर जारी निर्देश में भी नए शैक्षणिक कैलेंडर को जल्द जारी करने की बात कही थी। यूजीसी ने इससे पहले अप्रैल में परीक्षाओं और नए शैक्षणिक कैलेंडर को लेकर पूरी योजना जारी की थी। जिसमें दूसरे और तीसरे वर्ष के छात्रों की पढ़ाई अगस्त से शुरू होनी थी, जबकि परीक्षाएं जुलाई में ही होनी थी। लेकिन कोरोना संक्रमण के रफ्तार पकड़ने से यह सारी योजना फेल हो गई थी।

30 सितंबर तक कराने का समय

वैसे तो प्रस्तावित इस नए शैक्षणिक कैलेंडर को सात जुलाई को अंतिम वर्ष की परीक्षाएं कराने को लेकर जारी निर्देशों के साथ ही आना था। जिसमें यूजीसी ने अंतिम वर्ष की परीक्षा को जरूरी बताते हुए सभी विश्वविद्यालयों को इसे 30 सितंबर तक कराने का समय दिया है। हालांकि इसका कुछ राज्य विरोध कर रहे है, लेकिन यूजीसी का मानना है कि ज्यादातर विश्वविद्यालय उसके पक्ष में हैं।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020