मल्‍टीमीडिया डेस्‍क। हैदराबाद की जिस महिला वेटरनरी डॉक्‍टर के साथ बीते सप्‍ताह वारदात हुई, उनकी बहन ने आज उन्‍नाव मामले पर प्रतिक्रिया दी है। उन्‍होंने उन्‍नाव दुष्‍कर्म पीड़िता की मौत के बाद एक बयान में कहा है कि इस तरह की घटनाओं पर पूरी तरह से रोक लगानी होगी। इस तरह के मामलों में न्याय जल्द से जल्द दिया जाना चाहिए, इसमें सालों नहीं लगने चाहिए। समय पर फैसला इसलिए भी जरूरी है क्‍योंकि इस बीच पीड़ित पक्ष असुरक्षित रहता है। कई मामलों में पीड़िता पक्ष को ही मार दिया जाता है। कानूनों में संशोधन किया जाना चाहिए ताकि आरोपियों को ऐसे मामलों में जमानत न मिले।

मालूम हो कि 95 फीसदी जल चुकी दुष्कर्म पीड़िता ने शुक्रवार रात 11.40 बजे सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया था। दुष्कर्म के आरोपितों व अन्य द्वार जलाए जाने के बाद पीड़िता जिंदगी के लिए करीब 44 घंटे तक जूझती रही, लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। पीड़िता के शव को पोस्टमॉर्टम के बाद शनिवार सुबह उन्‍नाव स्थित घर के लिए रवाना कर दिया गया। पूरा परिवार सदमे में है।

पीड़िता के पिता ने मीडिया से बातचीत में अपनी पीड़ा और आक्रोश व्यक्त करते हुए प्रशासन पर कई गंभीर आरोप लगाए। पिता ने योगी सरकार से मांग की है कि जैसे हैदराबाद में पुलिस ने आरोपियों को मारा, वैसे ही हमारी बेटी से दरिंदगी करने वालों को दौड़ा-दौड़ाकर मौत के घाट उतारें, नहीं तो उन्हें फांसी पर लटका देना चाहिए। उन्होंने कहा, दोषियों को सजा मिलने के बाद ही बेटी की आत्मा को शांति मिल पाएगी।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस