रायबरेली। उत्तर प्रदेश के उन्नाव स्थित माखी के चर्चित दुष्कर्म मामले की पीड़िता की कार रविवार को रायबरेली में एक ट्रक से टकरा गई। हादसे में पीड़िता की चाची की मौके पर ही मौत हो गई। पीड़िता समेत तीन लोग जख्मी हो गए, जिन्हें ट्रॉमा सेंटर लखनऊ रेफर किया गया, जहां एक और महिला की मौत हो गई है। इस मामले में राजनीति एक बार फिर गर्मा गई है।

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के कार एक्सीडेंट के मामले में लखनऊ रेंज के एडीजी राजीव कृष्ण द्वारा आज प्रेस कांफ्रेंस ली गई। इस दौरान उन्होंने बताया कि एक्सीडेंट करने वाले ट्रक के ड्रायवर, उसके क्लीनर को हिरासत में ले लिया गया है। ट्रक बांदा से रायबरेली के लिए निकला था। रायबरेली के पास पीड़िता के साथ हादसा हुआ था।

एजीडी के मुताबिक पीड़िता के चाचा ने हादसे की CBI जांच की मांग की है।

उल्लेखनीय है कि इसी दुष्कर्म मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर जेल में बंद हैं। दिन में करीब एक बजे तेज बारिश हो रही थी। इसी दौरान लालगंज की ओर से जा रहे ट्रक और रायबरेली जा रही सफेद रंग की कार में टक्कर हो गई।

दुष्कर्म पीड़िता और उसके वकील की हालत नाजुक बताई जा रही है। पीड़िता के चाचा रायबरेली जेल में एक अलग मामले में बंद हैं। रविवार को ये सभी लोग उनसे मिलने जा रहे थे। तभी एक तीखे मोड़ पर हुई टक्कर में कार के परखच्चे उड़ गए। इस हादसे को लेकर पीड़िता की मां और बहन का आरोप है कि यह हादसा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के इशारे पर अंजाम दिया गया है।

हादसे की सीबीआई जांच हो : अखिलेश

इस मामले में समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश सिंह पीड़िता से मिलने जाने वाले हैं। हालांकि, वह अभी भी बेहोश है। उन्होंने उन्नाव की दुष्कर्म पीड़िता व उसके परिजनों के वाहन से ट्रक टकराने को बड़ी साजिश बताते हुए समाजवादी पार्टी ने सीबीआई जांच की मांग की है। एक बयान में अखिलेश यादव ने कहा कि दुष्कर्म पीड़िता के साथ रायबरेली जाते समय हुआ हादसा गंभीर घटना है। इसके पीछे उसकी हत्या करने की आशंका भी हो सकती है।

वहीं प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी इस मामले में ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है- बलात्कार पीड़िता के साथ सड़कदुर्घटना का हादसा चौंकाने वाला है। इस केस में चल रही CBI जांच कहां तक पहुंची? आरोपी विधायक अभी तक भाजपा में क्यों हैं? पीड़िता और गवाहों की सुरक्षा में ढिलाई क्यों? इन सवालों के जवाब बिना क्या भाजपा सरकार से न्याय की कोई उम्मीद की जा सकती है?

नंबर पर पोती गई थी ग्रीस

ट्रक का नंबर यूपी 71 एटी 8300 है, लेकिन आगे-पीछे लगे नंबर प्लेट को दोनों ओर ग्रीस से पोता गया था, ताकि नंबर छिपा रहे। अब यह किन कारणों से किया गया, आरटीओ के डर या फिर कोई और कारण- यह तो पुलिस तफ्तीश में सामने आ पाएगा। बहरहाल, ट्रक के ड्राइवर और उसके मालिक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। डीजीपी ने कहा कि पीड़िता को सुरक्षा मिली हुई है। उसने कहा कि कार में जगह नहीं है और एक व्यक्ति को उन्हें रास्ते में लेना है। प्रथम दृष्टया यह सड़क हादसा ही लग रहा है और वह इस मामले को सहर्ष सीबीआई को सौंपन के लिए तैयार हैं।

फतेहपुर का है ड्राइवर

ट्रक का ड्राइवर देर शाम पुलिस के हत्थे चढ़ गया। थानाध्यक्ष राकेश सिंह ने बताया कि फतेहपुर का आशीष पाल ट्रक चला रहा था। उसकी उम्र करीब 25 साल है। जब उनसे पूछा गया कि क्या उसने शराब पी रखी थी, तो उन्होंने कहा कि घटना के काफी देर बाद मिला है। ऐसा कुछ लगा नहीं। यह पूछने पर कि उसे कहां से पकड़ा गया, इतने में उनका मोबाइल बंद हो गया।

एसपी बोले, दुर्घटना लग रही है

एसपी सुनील कुमार सिंह मौके पर छानबीन कर रहे थे। जब उनसे सवाल हुआ कि घटना के पीछे कोई वजह? उन्होंने बताया कि प्रथम दृष्टया तो यह सड़क दुर्घटना लग रही है। कारणों की जांच करने के लिए एक्सपर्ट टीम लखनऊ से आ रही है। उसके बाद ही स्थिति साफ हो सकेगी। मामले की छानबीन के लिए फॉरेंसिक टीम को बुलाया गया है।

लड़की के पिता की हो चुकी है मौत

रेप केस लड़ रहे लड़की के पिता की मौत हो चुकी है। उन्हें पुलिस ने पूछताछ के लिए बुलाया था और कुलदीप सिंह सेंगर के भाई ने उनकी जमकर पिटाई की थी, जिसके बाद उनकी मौत हो गई थी। इस मामले में दुष्कर्म पीड़िता ने पिछले साल 8 अप्रैल को न्याय की गुहार लगाते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के घर के बार आत्मदाह करने की कोशिश की थी। इसके बाद यह मामला देशभर में सुर्खियों में छा गया था।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags