Unsafe Telangana: हैदराबाद (Hyderabad) में महिला डॉक्टर (veterinarian) के साथ हुई दरिंदगी की चर्चा पूरे देश में है। जगह-जगह विरोध प्रदर्शन करते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की जा रही है। इस घटनाक्रम से तीन दिन पहले तेलंगाना में ही एक और दुष्कर्म तथा हत्या का मामला सामने आया था जो इतना ही खौफनाक था। 30 वर्षीय जिस महिला के साथ तीन लोगों ने दुष्कर्म किया था, वो पीरियड्स में थी। उसने चीख-चीख कर अपनी इस मजबूरी के बारे में बताया, लेकिन दरिदों ने एक नहीं सुनी। आखिर में दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या कर दी गई। पीड़ित परिवार अब तक न्याय की गुहार लगा रहा है। किसी नेता, विधायक, मंत्री, सरकार ने सुध नहीं ली है। महिला अपने पीछे दो बच्चे और पति छोड़ कर गई है।

अपरिचिता (बदला हुआ नाम) घर-घर जाकर बाल इकट्ठा करती थी और इसके बदले में गुब्बारे देती थी। बाद में बड़ी दुकान पर ये बाल बेचकर पैसे जमा करती थी, ताकि घर खर्च चल सके। यह परिवार असिफाबाद जिले के येलापथर गांव में रहता है। जिन लोगों ने इस दुष्कर्म और हत्याकांड को अंजाम दिया, वे गांव के रहने वाले थे। उनका आपराधिक रिकॉर्ड है। वे हमेशा गांजे के नशे में रहते थे।

वारदात वाले दिन भी ये तीन नशे में थे। महिला अपने एक परिचित के यहां कंटेनर देकर लौट रही थी, तभी सरकारी स्कूल के पास झाड़ियों में दुष्कर्म किया गया और फिर दिन-दहाड़े जान से मार दिया। कई दिनों तक इसके सबूत वहां पड़े रहे। महिला की चप्पलें भी वहीं पड़ी रहीं, लेकिन शिकायत के बाद भी पुलिस जांच करने नहीं पहुंची।

पति का आरोप है कि सरकार उन पर ध्यान नहीं दे रही है, क्योंकि वे दलित हैं। उनकी मांग है कि आरोपियों के खिलाफ फास्ट ट्रैक कोर्ट में केस चलाया जाए और उन्हें सजा दी जाए। परिवार को मुआवजे और सरकार मदद की मांग भी जा रही है।

वहीं पुलिस का कहना है कि आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। तीनों ने अपराध स्वीकार कर लिया है। अब कानूनन आगे की कार्रवाई की जा रही है।

Posted By: Arvind Dubey