UP Board 12th Exams 2021 Cancellation। उत्तरप्रदेश में जल्द ही इंटरमीडिएट परीक्षाओं के रद्द होने का ऐलान हो सकता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जल्द ही इस संबंध में बैठक करके निर्णय लेंगे। सीबीएसई 12वीं की परीक्षा रद्द होने के बाद उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की इंटरमीडिएट परीक्षा भी रद्द होने की पूरी संभावना है। हालांकि, यूपी बोर्ड ने मई में ही इंटर के परीक्षार्थियों को प्रमोट करने की तैयारियां कर ली थी। यूपी बोर्ड के सचिव ने 22 मई को ही सभी कॉलेजों से 12वीं की प्रीबोर्ड और 11वीं की छमाही और वार्षिक परीक्षाओं के अंक मांगे थे। 28 मई तक अधिकांश स्कूलों ने छात्र-छात्राओं के अंकों का ब्योरा भी भेज दिया था।

राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कहा कि कोविड संक्रमण के चलते प्रधानमंत्री ने सीबीएसई 12वीं बोर्ड की परीक्षा रद्द करने का निर्णय लिया है। यह निर्णय देश भर के छात्रों की स्वास्थ्य सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए लिया गया है। उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कहा कि उत्तर प्रदेश की सरकार पहले ही छठवीं से 11वीं तक के विद्यार्थियों की परीक्षा रद्द कर उन्हें प्रमोट कर चुकी है। प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की 12वीं की परीक्षा के बारे में मुख्यमंत्री के साथ बैठक करने के बाद शीघ्र ही निर्णय लिया जाएगा। इससे इंटरमीडिएट के 26.10 लाख विद्यार्थियों को फायदा मिलेगा।

पाठ्यक्रम समान पर फैसले अलग-अलग

सीबीएसई और यूपी बोर्ड का पाठ्यक्रम लगभग समान है लेकिन, दोनों की परीक्षाओं की सूचना देने में अंतर रहा है। सीबीएसई के पास छमाही और वार्षिक परीक्षाओं का पूरा रिकॉर्ड ऑनलाइन है। इस वजह केंद्रीय बोर्ड छात्र-छात्राओं के प्रदर्शन के आधार पर हाईस्कूल में आसानी से प्रमोट कर सकता है। जबकि यूपी बोर्ड में कक्षा 9वीं की अर्धवार्षिक और वार्षिक परीक्षा का रिकॉर्ड बोर्ड मुख्यालय नहीं भेजा जाता था। इस बार प्री बोर्ड और इंटर परीक्षा से पहले स्कूल स्तर की परीक्षा फरवरी में कराई गई थी। इसका रिकॉर्ड भी बोर्ड के पास नहीं था।

पहले ही तैयारी कर चुकी है सरकार

यूपी बोर्ड ने हाईस्कूल परीक्षा रद्द करने से पहले ही वित्तविहीन, राजकीय और अशासकीय कॉलेजों से नवीं और हाईस्कूल प्रीबोर्ड और छमाही परीक्षाओं का रिकार्ड मांगा था। इसी दौरान 12वीं और 11वीं के छात्रों के नंबर भी मांगे गए थे। 28 मई की शाम तक ये सभी अंक वेबसाइट पर अपलोड हो चुके हैं। इसके बाद संभावना जताई जा रही है कि यूपी बोर्ड भी 12वीं की परीक्षा कैंसिल करके परीक्षार्थियों को प्रमोट कर सकता है।

मायावती ने पीएम मोदी को कहा शुक्रिया

बसपा सुप्रीमो मायावती ने सीबीएसई बोर्ड की इंटरमीडिएट की परीक्षाएं रद्द होने पर खुशी जताई है। उन्होंने ट्वीट कर कहा "देश में कोरोना महामारी के चलते बच्चों व बच्चियों की सेहत व सुरक्षा आदि को खास ध्यान में रखकर केंद्र सरकार द्वारा सीबीएसई की 12वीं की परीक्षा रद करने के लिए गए फैसले का बीएसपी स्वागत करती है, क्योंकि छात्रों व अभिभावकों आदि के साथ-साथ यही समय की मांग भी थी।"

Posted By: Sandeep Chourey