भदोही। उत्तर प्रदेश के भदोही स्थित ज्ञानपुर कोतवाली क्षेत्र के लखनो गांव के सामने शनिवार को बच्चों को स्कूल ले जा रही वैन में आग लग गई। रसोई गैस सिलेंडर से संचालित वैन में रिसाव होने से लगी आग देख चालक फरार हो गया। इस घटना में वैन सवार 19 बच्चों के अलावा उन्हें बचाने वाले तीन अन्य लोग झुलस गए। झुलसे बच्चों में से सात की हालत गंभीर है।

बच्चों की चीख पुकार सुनकर पहुंची स्थानीय महिला सीता देवी और उनकी बहू सुमन व जयशंकर ने किसी तरह बच्चों को बाहर निकाला। आनन-फानन में झुलसे बच्चों को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां पर स्थिति चिंताजनक होने पर सभी को वाराणसी स्थित बीएचयू के ट्रामा सेंटर भेज दिया गया। इनमें से पांच बच्चों को आइसीयू में रखा गया है।

इस प्रकरण में स्कूल प्रबंधक सहित तीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। सभी बच्चों की उम्र पांच से दस वर्ष के बीच है। घटना सुबह पौने आठ बजे की है। नथईपुर मार्ग पर संचालित एससी क्लासेज की वैन (यूपी 66 एस 4569) शिवरामपुर, भगवास, लखनो गांव से बच्चों को लेकर जैसे ही लखनो गांव के बाहर पहुंची गैस किट से लगे रसोई सिलेंडर में रिसाव होने लगा। पल भर में वैन शोला बनी तो चालक मनोज यादव बच्चों की परवाह किए बगैर फरार हो गया।

बच्चों को आग से घिरा देख गांव की सास-बहू सीता देवी और सोनम उन्हें बचाने में जुट गईं। वैन में ही सवार एक छात्र दस वर्षीय गोविंद भी किसी तरह से बाहर निकलकर बचाव में जुट गया। इस बीच गांव के जयशंकर भी बचाव में जुट गए। इतनी ही देर में बच्चे 20 से 70 फीसद तक झुलस गए थे।झुलसे बच्चों व लोगों को ग्रामीणों ने जिला अस्पताल भिजवाया।

सूचना पर जिलाधिकारी राजेंद्र प्रसाद और पुलिस अधीक्षक राजेश एस मौके पर पहुंच गए। अस्पताल पर जुटे अभिभावकों व ग्रामीणों ने प्रशासन को जमकर कोसा। इस मामले में वैन मालिक अशोक कुमार दुबे और स्कूल प्रबंधक सुशील कुमार दुबे और चालक मनोज के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। बीएचयू ट्रॉमा सेंटर में गंभीर पांच बच्चों को आइसीयू में रखा गया है।

मांगी घटना की रिपोर्ट अपर जिलाधिकारी और अपर पुलिस अधीक्षक सहित अन्य अधिकारियों की टीम बनाकर रिपोर्ट मांगी गई है। स्कूल प्रबंधक सहित तीन के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके अलावा भी इस मामले में जो भी जिम्मेदार लोगों की लापरवाही मिलेगी, उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। -राजेंद्र प्रसाद, जिलाधिकारी