उत्तरप्रदेश के प्रतापगढ़ जिले पुरवा गांव से एक बड़ी घटना सामने आई है। यहां एक दुल्हन अपनी शादी के दौरान होश खो बैठी। उसने कानून को ही अपने हाथ में ले लिया है। जिससे छोटी सी चूक होने पर खुशियां मातम में बदल सकती थी। दरअसल रविवार रात जयमाल के समय स्टेज पर चढ़ने से पहले महिला ने हर्ष फायरिंग कर दी। इस मामले का वीडियो सामने आने के बाद पुलिस ने पिता को गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि मंगलवार को एसडीएम कोर्ट से रिहाई मिल गई। वहीं चाचा रिवाल्वर समेत फरार है। दरअसल लक्ष्मण का पुरवा गांव निवासी गिरिजाशंकर पांडेय की बेटी रूपा की बरात 30 मई को आई थी। जयमाल से पहले स्टेज पर चढ़ते समय रूपा ने चाचा रामबास पांडेय की लाइसेंसी रिवाल्वर से फायर कर दिया। यह घटनाक्रम मौजूद बरातियों ने मोबाइल में कैद कर लिया। वीडियो सोमवार को इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुआ तो पुलिस हरकत में आ गई।

दारोगा बलवंत सिह की तहरीर पर पुलिस ने दुल्हन रूपा पांडेय, उसके पिता गिरिजाशंकर पांडेय और चाचा रामबास पांडेय के खिलाफ कोविड गाइडलाइन का उल्लंघन, आपदा प्रबंधन अधिनियम, शस्त्र अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया। देर रात दबिश देकर गिरिजाशंकर को गिरफ्तार कर लिया गया। वह शांति भंग की आशंका में चालान कर दिया गया। हालांकि, मंगलवार को एसडीएम कोर्ट से को जमानत पर रिहा कर दिया। पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने कहा कि मुकदमा दर्ज किया गया है। रिवाल्वर सीज कर लाइसेंस निरस्त करने के लिए जिलाधिकारी से बताया जाएगा।

Posted By: Navodit Saktawat