मल्टीमीडिया डेस्क। राज्यसभा में तीन तलाक के मुद्दे पर वोटिंग हुई। अमूमन राज्यसभा में वोटिंग बटन दबाकर की जाती है, लेकिन इस समय वोटिंग के लिए पर्ची का सहारा लिया गया। यह इस वजह से किया गया क्योंकि राज्यसभा के कुछ सदस्यों को फिलहाल सीट अलॉट नहीं हुई है और सदन के नियमों से मुताबिक सदस्यों को अलॉट की गई सीट से ही वोटिंग करना होती है। इसलिए इस समय पर्ची का सहारा लिया गया।

वोटिंग से यह साफ हो गया कि तीन तलाक बिल सेलेक्ट कमेटी को नहीं भेजा जाएगा। बिल सेलेक्ट कमेटी को नहीं भेजने के समर्थन 100 और विरोध में 84 वोट डले। इस दौरान सत्तापक्ष विपक्ष में सेंध लगाने में कामयाब रहा। बीएससी और टीआरएस वोटिंग से गायब रहे। जेडीयू और एआईएडीएमके ने वोटिंग का बहिष्कार किया। इस तरह से बिल को सेलेक्ट कमेटी के पास भेजने का प्रस्ताव गिर गया।

इससे पहले गुलाम नबी आजाद ने कहा कि सरकार ने विपक्ष मांग को नामंजूर कर दिया है इसलिए विपक्ष ने इस बिल के खिलाफ वोट किया है।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना