नई दिल्ली। हर साल गर्मी में देश के भीषण जल संकट का सामना करना पड़ता है। कुछ राज्य जल प्रबंधन को लेकर गंभीर हैं, लेकिन कहीं की सरकारें अब तक नहीं जागी हैं। नीति आयोग ने शुक्रवार को कंपोजिट वाटर मैनेजमेंट इंडेक्स जारी किया और बताया गया है कि जल प्रबंधन के मामले में दिल्ली का प्रदर्शन देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सबसे खराब है। जल संसाधनों के प्रबंधन के मामले में गुजरात का प्रदर्शन सबसे बेहतर है। (नीचे देखें पूरी लिस्ट)

साल 2017-18 के लिए इस इंडेक्स पर राज्यों की रैंकिंग 0 से 100 अंक के आधार पर की गई है। जल संसाधनों के प्रबंधन का प्रदर्शन दर्शाने वाले इस इंडेक्स पर दिल्ली का स्कोर मात्र 20 है जो सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सबसे कम है।

गुजरात का स्कोर 75 है और उसकी रैंक पहली है। बड़े राज्यों में उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड सबसे निचले स्थान पर है। खास बात यह है कि इन राज्यों के प्रदर्शन में अपेक्षित सुधार नहीं हुआ है। पूर्वोत्तर और हिमालयी प्रदेशों में सबसे शानदार प्रदर्शन हिमाचल प्रदेश का रहा है और उसका स्कोर 67 है। इन राज्यों में उत्तराखंड दूसरे स्थान पर है।

नीति आयोग के कंपोजिट वाटर इंडेक्स पर राज्यों का प्रदर्शन

(रैंक-राज्य-स्कोर)

1. गुजरात 75

2. आंध्र प्रदेश 74

3. मध्य प्रदेश 70

4. गोवा 60

5. कर्नाटक 59

6. तमिलनाडु 58

7. हरियाणा 58

8. महाराष्ट्र 56

9. पंजाब 52

10. तेलंगाना 50

11. राजस्थान 47

12. केरल 45

13. छत्तीसगढ़ 45

14. ओडिशा 39

15. उत्तर प्रदेश 39

16. बिहार 38

17. झारखंड 34

हिमालयी राज्य

1. हिमाचल प्रदेश 67

2. उत्तराखंड 49

3. त्रिपुरा 47

4. असम 44

5. सिक्किम 42

6. नगालैंड 30

7. मेघालय 26

8. अरुणाचल प्रदेश 22

संघ शासित प्रदेश

1. पुद्दुचेरी 39

2. दिल्ली 20