Weather Alert 6 December : बीते दस दिनों में दो बार समुद्री तूफान आ चुका है। पहले निवार आया और उसके बाद बुरेवी। दोनों ही चक्रवात दक्षिण भारत के लिए प्रभावी थे और वहां के कई शहरों में इन्‍होंने बड़ी तबाही मचाई। अब चूंकि तूफान का दौर थम चुका है लेकिन इसके प्रभाव के चलते अब देश भर में मौसम में परिवर्तन देखा जा सकता है। मौसम के जानकारों ने अनुमान जताया है कि अगले 24 घंटों में कई राज्‍यों में तेज बारिश देखी जा सकती है। समुद्री तूफान बुरेवी अब और कमजोर होकर निम्न दबाव में बदल जाएगा, तमिलनाडु के दक्षिणी जिलों में अगले 24 घंटों तक मध्यम से भारी बारिश की संभावना है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में तमिलनाडु और पुडुचेरी के अलग-अलग इलाकों में भारी बारिश की चेतावनी दी। अगले 24 घंटों के दौरान तमिलनाडु और पुडुचेरी में, दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश, केरल और माहे में 4-5 दिसंबर को और लक्षद्वीप में 5 दिसंबर को भारी बारिश हो सकती है। आंतरिक तमिलनाडु केरल तथा लक्ष्यदीप में मध्यम वर्षा के आसार हैं। आंध्र प्रदेश के दक्षिणी तटों पर भी मध्यम बारिश हो सकती है। केरल के दक्षिणी जिलों में भी मध्यम बारिश के आसार एक-दो स्थानों पर वर्षा भी हो सकती है। केरल राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण का अनुमान है कि 5 दिसंबर से 7 दिसंबर तक केरल और लक्षद्वीप क्षेत्र में एक या दो स्थानों पर गरज के साथ गरज के साथ बौछार होने की संभावना है। मौसम विभाग ने बताया कि एक ही क्षेत्र पर व्यावहारिक रूप से स्थिर रहने और अगले 12 घंटों के दौरान एक अच्छी तरह से चिह्नित, कम दबाव वाले क्षेत्र में कमजोर होने की संभावना है।

जानिये आगे क्‍या है संभावना

7 दिसंबर से एक नया पश्चिमी विक्षोभ जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश तथा उत्तराखंड में भारी बर्फबारी दे सकता है। दिल्ली में प्रदूषण एक बार फिर खतरनाक स्थिति में। तमिलनाडु व केरल में चल रही भारी बारिश में अब कमी आने के आसार हैं। चक्रवाती तूफान बुरेवी(Cyclone Burevi) अब कमजोर पड़ गया है। इसके अगले 12 घंटों तक मन्नार की खाड़ी में बने रहने की संभावना है। मौसम विभाग ने इसको लेकर जानकारी दी है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD)ने कहा कि गहरे दबाव के कारण चक्रवाती तूफान बुरेवी मन्नार की खाड़ी में कमजोर हो गया है और अब इसके एक ही क्षेत्र में व्यावहारिक रूप से स्थिर रहने की संभावना है। मौसम विभाग ने साथ ही कहा कि यह तूफान अगले 12 घंटों में कम दबाव वाले क्षेत्र में कमजोर हो सकता है।

बढ़ सकती है ठंड

दूसरी तरफ, इस बदलते मौसम के चलते अब ठंड भी गहरा सकती है। स्‍कायमेट वेदर के अनुसार, पर्वतीय राज्यों में संभावित वर्षा और हिमपात के कारण दिन के तापमान में कुछ गिरावट हो सकती है जबकि रात के तापमान में हल्की बढ़ोतरी होने की संभावना है।

चक्रवाती तूफान के बारे में अभी तक का अपडेट

चक्रवाती तूफान बुरेवी कमजोर पड़ गया है। इसका असर अभी देखने को मिल रहा है।तमिलनाडु के कई हिस्सों में भारी बारिश हुई है। भारी बारिश के बाद रामेश्वरम के विभिन्न हिस्सों में गंभीर जलभराव की स्थिति हो गई है। इसके अलावा पुडुचेरी के भी कई हिस्सों में आज भारी बारिश हुई है। इस कारण पुडुचेरी के कई हिस्सों में भारी वर्षा के बाद जलभराव हो गया। चक्रवाती तूफान बुरेवी के कमजोर पड़ने के साथ मौसम विभाग ने केरल को लेकर अलर्ट को खत्म कर दिया है। मौसम विभाग ने केरल के सात दक्षिण जिलों से रेड अलर्ट वापस ले लिया है। मौसम विभाग ने शुक्रवार सुबह कहा कि तूफान आगे और कमजोर पड़ता हुआ तमिलनाडु के रामनाथपुरम और तूतीकुड़ी जिले के बीच से गुजर जाएगा।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Budget 2021
Budget 2021