Weather Alert 8 March: मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि 8 मार्च से जम्मू कश्मीर से लेकर उत्तराखंड तक तेज बारिश और हिमपात की संभावना है। दिल्ली सहित उत्तर भारत में अभी कुछ और तापमान गिर सकते हैं। दक्षिण मध्य प्रदेश, विदर्भ तथा मराठवाड़ा मैं चिलचिलाती धूप के साथ तेज गर्मी जारी रहेगी। गंगा के मैदानी क्षेत्रों में उत्तर पश्चिम दिशा से तेज हवाएं चलती रहेंगी। दिन के तापमान सामान्य से अधिक पर बने रहने की संभावना है। मौसम विभाग ने अनुमान लगाया है कि अगले 24 घंटों के दौरान हरियाणा, पंजाब, दिल्ली, चंडीगढ़ और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में तेज हवाओं (20-30 किमी प्रति घंटे) की संभावना है। अगले 2 दिनों तक मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ राजस्थान तथा गुजरात में कुछ गिर सकते हैं तापमान। अगले तीन से चार दिनों तक देश में बारिश, बर्फबारी की वापसी हो सकती है। अगले 2 दिनों तक पंजाब से लेकर गुजरात तथा दिल्ली और मध्य प्रदेश के तापमान में गिरावट की संभावना है। 2 से 7 मार्च के बीच मौसम का सबसे चरम 7 मार्च को ही दिखाई देगा जब जम्मू कश्मीर से लेकर उत्तराखंड अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश और बर्फबारी देखने को मिलेगी। 5 दिनों तक कुल मिलाकर 35-50 मिमी तक बारिश होने की संभावना है। फरवरी महीने में उत्तर भारत में सबसे अधिक पश्चिमी विक्षोभ आते हैं लेकिन इस बार फरवरी में मात्र एक सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ आया जिससे 4 से 6 फरवरी में उत्तर भारत के पहाड़ी और मैदानी इलाकों में अधिकांश स्थानों पर वर्षा हुई थी।

यहां चल सकती है तेज हवा

आईएमडी अगले 4-5 दिनों तक तापमान अपरिवर्तित रहने की संभावना जताता है और वर्षा की भविष्यवाणी करता है। कुछ दिन ऐसे हो सकते हैं जब काफी तेज़ हवाएँ चलेंगी जबकि कुछ दिन ऐसे हो सकते हैं जब हवा की गति बहुत कम रहेगी। 4-5 मार्च तक दिल्ली एनसीआर समेत उत्तर पश्चिम भारत के शहरों में सुबह और रात के समय मौसम में सर्दी की वापसी हो जाएगी। 6 और 7 मार्च को पंजाब व हरियाणा के तराई क्षेत्रों में भी कुछ स्थानों पर गरज के साथ बारिश की गतिविधियां देखने को मिल सकती हैं। IMD (भारत मौसम विज्ञान विभाग) अगले 4-5 दिनों के लिए भारत में अधिकतम तापमान में कोई महत्वपूर्ण परिवर्तन की भविष्यवाणी नहीं करता है। इस बीच, ऐसी खबरें आ रही हैं कि मार्च में, उत्तर, पूर्वोत्तर, पूर्व और पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में दिन का तापमान सामान्य तापमान से ऊपर रह सकता है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, "सामान्य मौसमी के नीचे अधिकतम तापमान दक्षिण प्रायद्वीप और उससे सटे मध्य भारत के अधिकांश उप-भागों में होने की संभावना है।" इसके बाद अगले सप्‍ताह 8 और 9 मार्च को समूचे उत्तर भारत में फिर से मौसम शांत रहेगा उसके बाद 10 मार्च को फिर से एक सिस्टम उत्तर भारत में आ जाएगा। 6-8 मार्च के दौरान इस दूसरी क्रमिक प्रणाली से 6-8 मार्च के दौरान इस क्षेत्र में व्यापक रूप से व्यापक वर्षा / बर्फबारी की गतिविधियाँ होने की संभावना है।

बारिश तथा हिमपात की संभावना

आगामी 10 दिनों के मौसम पूर्वानुमान पर नजर डालें तो राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में बारिश की संभावना फिलहाल नहीं है। मार्च के पहले सप्ताह के दौरान राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली सहित उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में हवा के रुख में बदलाव और आकाश की स्थिति मिली जुली रहने की संभावना है। स्‍कायमेट वेदर के अनुसार, जम्मू कश्मीर से लेकर के हिमाचल प्रदेश तक एक बार फिर बारिश तथा हिमपात की संभावना है। उत्‍तर भारत में तापमान में बड़ी गिरावट के चलते अमृतसर, जालंधर, पठानकोट, लुधियाना, पटियाला, मोगा, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, पानीपत, सोनीपत, रेवाड़ी सहित राजस्‍थान के जयपुर, चूरू, गंगानगर और आसपास के भागों में सुबह की सर्दी एक बार फिर वापसी कर सकती है। पूर्वोत्तर में हल्की बारिश की संभावना है। उत्तर पश्चिम और मध्य भारत सहित पहाड़ी राज्यों में भी गिर सकते हैं तापमान। पूरे भारत में भी हल्की गिरावट की संभावना है। तापमान में बड़ी गिरावट के चलते दिल्ली, गुरुग्राम, फरीदाबाद, नोएडा, गाजियाबाद, मेरठ, सहारनपुर, मुरादाबाद और आसपास के भागों में सुबह की सर्दी एक बार फिर वापसी कर सकती है।

अगले 5 दिनों के लिए पूरे भारत का मौसम का अनुमान

एक चक्रवाती परिसंचरण, अरुणाचल प्रदेश और आसपास के क्षेत्र में पृथक बर्फ / बारिश करेगा। यह गतिविधि सप्ताहांत की ओर इसकी तीव्रता में मामूली वृद्धि दिखाएगी। इस बीच, अगले 4-5 दिनों के दौरान पूर्वोत्तर भारत में चरम गरज / बिजली के साथ छिटकी हुई वर्षा को अलग किया जा सकता है। तापमान के लिहाज से, देश के पश्चिमी हिस्से में अधिकतम औसत से ऊपर की उम्मीद है। इसी तरह, ओडिशा मंगलवार को कुछ स्थानों पर 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक की संभावना के साथ ऊपर-औसत अधिकतम देखा जाएगा। कोंकण तट के कुछ क्षेत्रों में मंगलवार से शुक्रवार तक 40 ° C अधिकतम तापमान होगा। डेक्कन पठार के अपवाद के साथ, इस पूर्वानुमान की अवधि के दौरान, देश के अधिकांश हिस्सों में रातोंरात न्यूनतम तापमान सामान्य से अधिक गर्म होगा, जहां तापमान सामान्य या थोड़ा ठंडा रहेगा।

साभार: Skymet Weather

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Assembly elections 2021
Assembly elections 2021
 
Show More Tags