जुलाई महीने में बेरुखी दिखाने के बाद अब अगस्त महीने में मानसून देश पर मेहरबान हो रहा है। राजधाननी दिल्ली समेत देश के कई राज्यों में लगातार हो रही बारिश से बाढ़ के हालात बने गए हैं। राजधानी दिल्ली में बुधवार से ही हो रही लगातार बारिश के कारण कई इलाकों में जलजमाव हो गया है। वहीं उत्तराखंड में भी भारी बारिश के कारण नदियां उफान पर हैं। पहाड़ों और कुछ मैदानी इलाकों में लगातार बारिश के कारण कई जगहों पर बाढ़ की आशंका बढ़ गई है। केंद्रीय जल आयोग (CWC) ने बुधवार को चेतावनी जारी कर देश के कई भागों में भारी बारिश की संभावना जताई है।

भारतीय मौसम विभाग (IMD) के हवाले से केंद्रीय जल आयोग ने हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, राजस्थान के पूर्वी क्षेत्र, मध्य प्रदेश के पश्चिमी क्षेत्र में बारिश से बाढ़ का पूर्वानुमान जारी किया है। उत्तराखंड के उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर और पिथौरागढ़, राजस्थान के सीकर, जयपुर, दौसा, सवाई माधोपुर, करई, बारां, टोंक, मध्य प्रदेश के श्योपुर और शिवपुरी में तेज बारिश होने का पूर्वानुमान है। वहीं हिमाचल में चंबा सहित कई स्थानों पर भी भारी बारिश का पूर्वानुमान है।

वहीं मौसम विभाग ने भी अपने अलर्ट में कहा है कि आज भी दिल्ली-एनसीआर के अलावा देश के अन्य कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी हुआ है।

उत्तराखंड में बारिश ने बढ़ाई दुश्वारियां

लगातार हो रही बारिश से कुमाऊं में दुश्वारियां बढ़ती जा रही हैं, जबकि गढ़वाल में भी बारिश और भूस्खलन से काफी नुकसान हो रहा है। बुधवार को पिथौरागढ़ जिले में जोरदार बारिश हुई। जिससे अस्कोट-कर्णप्रयाग मार्ग पर बेरीनाग व थल के मध्य सड़क धंस गई। थल-पांखू मार्ग पर रपटे में एक पिकअप वाहन बह गया। कई जगह भूस्खलन के कारण नुकसान हुआ है। बदरीनाथ क्षेत्र के 14 गांवों में दो दिन से विद्युत आपूर्ति ठप है। हालांकि, केदारनाथ हाईवे पांच दिन बाद सुचारू हो गया है, लेकिन प्रदेश में अब भी करीब 65 मार्गों पर आवाजाही बंद है।

किन्नौर में बादल फटा, दो पुल बहे

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले की मूरंग तहसील के रिस्पा गांव में मंगलवार रात बादल फटने से करोड़ों की संपत्ति बह गई। बाढ़ के कारण रिस्पा में चेरांग खड्ड पर बना पुल व अकपा में सतलुज नदी पर लोहे का पुल बह गए। चेरंग गरंग नहर का करीब 300 से 400 मीटर हिस्सा बह गया है। रिस्पा संपर्क सड़क भी करीब 70 से 80 मीटर बह गई है। अकपा में पुल बहने से पूह, पोवारी, रिकांगपिओ व रामपुर की तरफ जाने वाले बड़े वाहनों की आवाजाही बंद हो गई है। चंबा जिले की परौथा पंचायत के तलानेर में घास काट रही महिला व उसका बेटा पहाड़ी से गिरे पत्थरों की चपेट में आ गए। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

Posted By: Ajay Kumar Barve

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020