Weather News, IMD Rainfall Alert: मानसून के दूसरे दौरे में कई प्रदेशों में बारिश हो रही है। पहाड़ी से लेकर दक्षिणी राज्यों तक जन-जीवन प्रभावित हो गया है। मौसम विभाग के अनुसार मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात और उत्तरी महाराष्ट्र के इलाके में अलगे दो दिनों तक मानसून सक्रिय रहेगा। उसके बाद बरसात की गतिविधियां कम होंगी। आईएमडी के मुताबिक 15 और 16 अगस्त को पश्चिमी मप्र, विदर्भ, कोंकण और गोवा में गरज के साथ मध्यम बारिश हो सकती है। छत्तीसगढ़ और पूर्वी मध्यप्रदेश में 15 अगस्त को वर्षा संभव है। सौराष्ट्र और कच्छ में 16 और 17 अगस्त तक बारिश होगी।

देशभर में बना मौसमी सिस्टम

स्काईमेट वेदर के अनुसार ओडिशा और उत्तरी छत्तीसगढ़ के आसपास के हिस्सों पर बना डिप्रेशन पश्चिमी उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ गया। यह अब उत्तरी छत्तीसगढ़ और आसपास के क्षेत्रों पर है। उत्तर-पश्चिम अरब सागर पर निम्न दबाव का क्षेत्र बना है। मानसून ट्रप बीकानेर, कोटा, सागर, उत्तरी छत्तीसगढ़ पर बने डिप्रेशन केंद्र से गुजरती हुई बालासोर और बंगाल की खाड़ी की ओर जा रही है।

तेज बारिश के आसार

मौसम विभाग के मुताबिक बंगाल की खाड़ी में लो प्रेशर बना हुआ है। जिस वजह से पश्चिम बंगाल, ओडिशा, झारखंड, छत्तीसगढ़ और पूर्वी मध्यप्रदेश के कई इलाकों में 18 और 19 अगस्त को बारिश के आसार हैं। ओडिशा में 18-19 अगस्त को भारी वर्षा संभव है। वहीं बंगाल में 18 और 19 अगस्त, पूर्वी मप्र, झारखंड और छत्तीसगढ़ में 19 अगस्त तो भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है।

मछुआरों को सलाह

आईएमडी ने कहा, 'हिमाचल प्रदेश में 15 और 18 अगस्त को बारिश होगी। इसके अलावा मछुआरों को बंगाल की खाड़ी में नहीं जाने के लिए कहा गया है।' साथ ही मछुआरों से ओडिशा, बंगाल, आंध्र प्रदेश के तटों पर 15 अगस्त को व गोवा, महाराष्ट्र और दक्षिणी गुजरात में 15 से 17 अगस्त के बीच नहीं जाने की अपील की है।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close