मौसम विभाग के पांच दिनी पूर्वानुमान के मुताबिक, दो जुलाई को देहरादून, पौड़ी, नैनीताल में कहीं-कहीं भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना है। टिहरी, चम्पावत, पिथौरागढ़, में भी भारी बारिश के आसार हैं। यहां कहीं-कहीं आकाशीय बिजली गिर सकती है। जबकि, मैदानी क्षेत्रों में 50 से साठ किमी प्रति घंटे की रफ्तार से झक्कड़ चलने की आशंका भी जताई गई है। तीन और चार जुलाई को नैनीताल और पिथौरागढ़ में कहीं-कहीं भारी बारिश का येलो अलर्ट रहेगा। मौसम विभाग ने कहा कि आगामी 7 जुलाई के बाद ही मानसून के सक्रिय होने के आसार हैं। दरसअल, बीते 19 जून के बाद मानसून की गति कमजोर है। भारतीय मौसम विभाग ने नेपाल सीमा से लगे भारत के उत्तरी राज्यों में भारी से भारी बारिश होने की भविष्यवाणी की है। भीषण गर्मी का असर केवल दिल्‍ली-एनसीआर तक सीमित नहीं है, बल्कि पंजाब और हरियाणा, राजस्‍थान यहां तक कि जम्‍मू में भी तापमान बढ़ रहा है। मौसम विभाग ने बिहार, पश्चिम बंगाल, सिक्किम समेत पूर्वोत्‍तर के राज्‍यों में कई जगहों पर भारी बारिश का अनुमान लगाया है।

मौसम विभाग द्वारा अगले 72 घंटों में उत्तर बिहार और हिमालय की तलहटी से जुड़े जिलों में भारी बारिश की संभावना जताई गई है। भागलपुर, कटिहार, पूर्णिया, किशनगंज, अररिया, शिवहर, सुपौल, दरभंगा, सीतामढ़ी, पूर्वी और पश्चिमी चंपारण में गरज के साथ भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। साथ ही बारिश के साथ वज्रपात की भी आशंका जताई गई है। मौसम विभाग ने इन 11 जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। पिछले कुछ दिनों से मौसम शुष्क रहने के बाद गुरुवार को उत्तराखंड के बागेश्वर, नैनीताल और पिथौरागढ़ जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया गया है। दो जुलाई के लिए पहाड़ी जिलों में बारिश का ऑरेंज अलर्ट रहेगा।

Posted By: Navodit Saktawat