नई दिल्ली। देश की राजधानी सहित पूरा उत्तर भारत में इन दिनों कड़ाके की सर्दी पड़ रही है। कई इलाके शीतलहर की चपेट में हैं। दिल्ली में लगातार तापमान में गिरावट दर्ज की जा रही है। आज राजधानी में इस साल का सबसे ठंडा दिन है और न्यूनतम तापमान 4.7 डिग्री पर पहुंच गया है। दिल्ली में दिसंबर की ठंड कई रिकॉर्ड तोड़ रही है। सर्दी का आलम यह है कि 118 साल बाद ऐसा हो सकता है कि दिसंबर के महीने में दिल्ली में सबसे ज्यादा सर्दी पड़ी हो। 1901 के बाद दूसरी बार राज्य में सबसे तेज सर्दी पड़ने जैसे हालात बनने लगे हैं। मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली में साल के आखिरी दिन 31 दिसंबर को तापमान में और भी गिरावट दर्ज हो सकती है।

दिल्ली में शु्क्रवार को न्यूनतम तापमान 5.8 डिग्री रहा था जबकि अधिकतम तापमान 13.4 डिग्री मापा गया था जो कि सामान्य से 7 डिग्री कम रहा।

इन राज्यों में पड़ेगी कड़ाके की ठंड

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक देश के कई राज्यों में तेज ठंड पड़ेगी। इसमें पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली के साथ राजस्थान यूपी भी शामिल हैं। इन राज्यों में अगले 2 दिनों में कड़ाके की ठंड पड़ सकती है। इसके अलावा उत्तरपूर्वी राज्यों में अगले 4 से 5 दिनों तक तक ऐसे हालात रह सकते हैं।

फतेहपुर, सीकर में 0 डिग्री तक हुआ तापमान

नए साल में हिल स्टेशनों पर भारी बर्फबारी हो सकती है। मौसम विभाग के मुताबिक 3 जनवरी तक हिल स्टेशनों में जमकर बर्फबारी होने की संभावना है। इसके साथ ही पहाड़ी इलाकों में भी बर्फबारी की आशंका जताई जा रही है। राजस्थान के फतेहपुर में रात का तापमान 0 से 3 डिग्री के बीच और सीकर में 0 डिग्री से नीचे पहुंच गया है। कई इलाकों में रात का तापमान एक डिग्री सेल्सियस से पांच डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है।

राजस्थान के पहाड़ी पर्यटन स्थल माउंट आबू में तापमान एक डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। चुरू, वनस्थली, बीकानेर, अजमेर, गंगानगर सहित अन्य इलाकों में भी तापमान में जमकर गिरावट आई है।

मध्यप्रदेश में भी पड़ रही कड़ाके की ठंड

पहाड़ी इलाकों में हुई बर्फबारी का असर मध्यप्रदेश में भी नजर आने लगा है। यहां कई जिलों में शीतलहर जैसी स्थिति पैदा हो गई है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। मौसम विभाग आने वाले दिनों में ठंड बढ़ने के संकेत दे रहा है।

हिमाचल, कश्मीर में हालत खराब

हिमाचल प्रदेश और कश्मीर में भी जमकर ठंड पड़ रही है। बर्फबारी होने की वजह से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है। कई इलाकों में तापमान शून्य से नीचे पहुंच गया है। बता दें कि पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी की वजह से नजदीकी मैदानी इलाकों में भी कड़ाके की ठंड पड़ने लगी है। जो नए साल में भी जारी रहेगी।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना