Weather Update : देश के कई राज्यों में पिछले कुछ दिनों में भारी बारिश ने तबाही मचा रखी है। केरल में 30 तो उत्तराखंड में 25 से ज्यादा लोग बाढ़ और भूस्खलन की वजह से जान गंवा चुके हैं। मौसम विभाग की मानें तो कुछ राज्यों को आने वाले दिनों में भी भारी बारिश से राहत नहीं मिलने वाली है। मौसम विभाग ने बुधवार से कई क्षेत्रों में भारी बारिश की आशंका जताई है। केरल के कई जिलों और बांधों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। IMD ने मंगलवार को केरल के 11 जिलों के लिए भारी बारिश का संकेत देते हुए ऑरेंज अलर्ट जारी किया। मौसम विभाग ने 20 अक्टूबर से 23 अक्टूबर के दौरान दक्षिण आंतरिक कर्नाटक में भारी बारिश के संकेत दिए हैं। वहीं केरल, माहे और तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में भी 20 अक्टूबर और 21 अक्टूबर को बहुत भारी वर्षा होने की संभावना है।

मौसम विभाग की मानें तो 20 अक्टूबर को तिरुवनंतपुरम, पठानमथिट्टा, कोट्टायम, एर्नाकुलम, इडुक्की, त्रिशूर, पलक्कड़, मलप्पुरम, कोझीकोड, वायनाड और कन्नूर जिलों में भारी बारिश हो सकती है। वहीं गुरुवार को भी राज्य के 12 जिलों को ऑरेंज अलर्ट पर रखा है। रेड अलर्ट 24 घंटों में 20 सेमी से अधिक की भारी से अत्यधिक भारी बारिश का संकेत देता है, जबकि ऑरेंज अलर्ट 11 सेमी से 20 सेमी तक बारिश को दर्शाता है। वहीं येलो अलर्ट का मतलब है 6 से 11 सेंटीमीटर के बीच बारिश।

IMD ने जानकारी दी है कि उत्तरी तेलंगाना के ऊपर निम्न दबाव का क्षेत्र बनने एवं बंगाल की खाड़ी से तेज दक्षिण-पूर्वी हवा चलने के कारण पश्चिम बंगाल और ओडिशा में 20 अक्टूबर तक भारी वर्षा होने के आसार हैं। मौसम विभाग ने वर्षा के कारण नदियों में जलस्तर बढ़ने, निचले इलाकों में जलभराव होने तथा दार्जिलिंग एवं कलीमपोंग जिलों में भूस्खलन की चेतावनी दी है। बंगाल की राजधानी कोलकाता समेत राज्य के दक्षिण जिलों में भारी से अत्यधिक भारी वर्षा हो सकती है। वहीं उत्तर के पहाड़ी इलाकों जम्मू-कश्मीर, लद्दाख में भी बारिश और बर्फबारी की आशंका जताई गई है।

Posted By: Shailendra Kumar