नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा और कानून-व्यवस्था का मुद्दा बुधवार को संसद में गूंजा। इस दौरान भाजपा और तृणमूल कांग्रेस (TMC) के सांसदों के बीच जमकर बहस हुई। शून्यकाल के दौरान BJP की लॉकेट चटर्जी ने पश्चिम बंगाल सरकार पर निशाना साधते हुए दावा किया कि निकाय चुनावों के बाद 100 से ज्यादा भाजपा कार्यकर्ताओं को मौत के घाट उतारा जा चुका है। लोकसभा चुनावों के बाद भी 15 भाजपा कार्यकर्ता मारे जा चुके हैं।

उन्होंने राजनीति हिंसा के लिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठहराया, जिस पर TMC सांसद कल्याण बनर्जी और उनके साथी सांसद भड़क ने आपत्ति ली। TMC सांसद सौगत राय ने कहा, भाजपा के सदस्य पश्चिम बंगाल के बारे में बोल रहे हैं, लेकिन झारखंड और अन्य स्थानों में जो हो रहा है, उस पर चुप हैं। टीएमसी सांसदों के मुताबिक, यह धार्मिक असहिष्णुता का उदाहरण है और TMC मॉब लिंचिंग के खिलाफ अपना विरोध जारी रखेगी। उन्होंने झारखंड में मुस्लिम युवक तबरेज अंसारी की मौत को हत्या करार देते हुए इस घटना को मानवता पर कलंक बताया।

Posted By: Arvind Dubey