Haridwar: शादी में निमंत्रण के बावजूद अगर बारात, किसी को छोड़कर चली जाए, तो क्या ये मामला मानहानि का बनता है? आपको यकीन नहीं होगा, लेकिन एक बाराती ने इसी वजह से दूल्हे के खिलाफ 50 लाख रुपये की मानहानि का दावा कर दिया है। दूल्हे के इस दोस्त का कहना है कि बारात, निमंत्रण पत्र (कार्ड) में दिए गए समय से पहले ही निकल गई और वो शादी में शामिल नहीं हो सका। इस वजह से उसे मानसिक आघात पहुंचा है। अब उसने अपने अधिवक्‍ता के माध्‍यम से दूल्‍हे को 50 लाख की मानहानि का नोटिस भेजा है।

जानिये पूरा मामला

ये मामला हरिद्वार के बहादराबाद का है। यहां के एक युवक रवि की शादी धामपुर, बिजनौर (उप्र) में तय हुई। शादी तय होते ही युवक ने अपने कुछ दोस्‍तों के साथ बैठकर बारातियों की सूची तैयार की। फिर उसने सभी दोस्‍तों को शादी का कार्ड भेजा और उनसे कहा कि बारात में अवश्‍य चलना है। कार्ड के मुताबिक, बारात निकलने का समय 23 जून, शाम पांच बजे तय हुआ था। दूल्‍हे के दोस्‍त चंद्रशेखर ने अपने नोटिस में दावा किया है कि वह कुछ अन्य निमंत्रित दोस्‍तों के साथ नियत समय से 10 मिनट पहले वहां पहुंच गया था। लेकिन वहां पता चला कि बारात जा चुकी है। फिर उसने दूल्‍हे को फोन किया तो उसने कहा कि हम लोग जा चुके हैं, और आप लोग वापस चले जाएं।

क्यों भेजा नोटिस?

अधिवक्ता के माध्यम से जारी इस नोटिस में चंद्रशेखर ने कहा है कि इस व्यवहार से शादी में जाने के लिए पहुंचे सभी लोगों को बहुत दुख हुआ। उसे दोस्तों के ताने सुनने पड़े। इससे ना सिर्फ उसे मानसिक प्रताड़ना पहुंची, बल्कि उसकी छवि को भी धक्का लगा। इस नोटिस में उसने मांग की है कि अपने इस बर्ताव के लिए दूल्‍हा तीन दिन के अंदर सार्वजनिक रूप से क्षमा याचना करे। ऐसा नहीं करने पर वह मानहानि के रूप में अदालत में 50 लाख का वाद दायर करेंगे।

इस मामले में

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close