भारत में कोरोना के केस रोज नया रिकॉर्ड बना रहे हैं। सवाल उठ रहा है कि जब बाकी देशों ने कोरोना महामारी पर काबू कर लिया, तब पहली लहर में शानदार प्रदर्शन करने के बाद दूसरी लहर में भारत में ऐसे हालात क्यों बन गए? कुछ लोग इसे चुनाव तो कुछ कुंभ जैसे आयोजनों को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। बहरहाल, भारत में कोरोना का बम फूटने के असली कारण विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की वैज्ञानिक डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने बताया है। डॉ. सौम्या स्वामीनाथन का मानना है कि भारत में कोरोना का नया रूप सामने आया जो पहले के वेरिएंट्स के कहीं ज्यादा घातक है और यही कारण है कि भारत में तेजी से केस बढ़ रहे हैं और लोगों की मौत भी हो रही है। वहीं डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने टीकाकरण की धीमी रफ्तार को भी कोरोना संक्रमण फैलने का बड़ा कारण बताया है। पढ़िए भारतीय शिशु रोग विशेषज्ञ और डबल्यूएचओ की टॉप वैज्ञानिक डॉ. स्वामीनाथन का पूरा बयान

एक इंटरव्यू में डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने कहा, कोरोना का नया वेरिएंट B.1.617 भारत में अक्टूबर 2020 में पाया गया था, वही अब भारत में कोरोना विस्फोट का सबसे बड़ा कारण है। यही नया वेरिएंट अब देश में हर दिन लाखों लोगों को अपना शिकार बना रहा है और यह जानलेवा साबित हो रहा है। यह शरीर में एंटीबॉडी बनाने से भी रोकता है और पुराने वेरिएंट के मुकाबले काफी तेजी से म्यूटेट करता है।

Updating...

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags