देश में कोरोना की दूसरा लहर अपने चरम पर पहुंच चुकी है। रोजाना देश में 2 लाख के करीब मामले सामने आ रहे हैं। कोरोना के बढ़ते संक्रमण से बैंक यूनियनें भी कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं। इसी वजह से बैंक यूनियनों ने वित्त मंत्रालय मांग की है कि बैंक कर्मचारियों की सुरक्षा के उपाय किए जाएं। कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए यूनियनों ने बैंकों के कार्य दिवसों में कमी और शाखाओं को कम से कम कर्मचारियों के साथ काम कराने का सुझाव दिया है।

वित्तीय सेवा विभाग के सचिव को दिया ज्ञापन

वित्तीय सेवा विभाग के सचिव देवाशीष पांडा को नौ यूनियनों के संगठन यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस ने ज्ञापन दिया है। ज्ञापन में सभी बैंक शाखाओं को संभावित ‘हॉटस्पॉट’ बताते हुए कर्मचारियों लिए सुरक्षा उपाय करने की मांग की गई है। इसके अलावा यूनियन ने पिछले साल की तरह कामकाज के घंटे या काम के दिन घटाने का भी सुझाव दिया है।

वर्क फ्रॉम होम की मांग

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस ने कहा "हम आपसे आग्रह करते हैं कि सभी बैंकों को शाखाओं/कार्यालयों में न्यूनतम कर्मचारियों को बुलाने का निर्देश दिया जाए। अगले चार से छह माह तक एक-तिहाई कर्मचारियों के साथ काम, घर से काम यानी वर्क फ्रॉम होम का क्रियान्वयन किया जाना चाहिए। संक्रमण से बचाव के लिए स्टाफ अधिकारियों को बारी-बारी से बुलाया जाना चाहिए।’

बैंक कर्मचारियों को भी वैक्सीनेशन की मांग

बैंक यूनियन ने कहा कि कई केंद्र ऐसे हैं, जहां पर सभी शाखाएं खोलने की जरूरत नहीं है। इनकी संख्या सीमित की जानी चाहिए। बैंकिंग सुविधाओं का विस्तार कुछ चुनिंदा शाखाओं तक होना चाहिए। यूनियन ने बैंककर्मियों को प्राथमिकता के आधार पर टीका लगाए जाने की भी मांग की। यूनियन का मानना है कि इससे बैंक कर्मचारियों का विश्वास बढ़ेगा।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags