श्रीनगर। तिहाड़ जेल में जम्मू कश्मीर लिब्रेशन फ्रंट के चेयरमैन यासीन मलिक की हालत बिगड़ गई। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

श्रीनगर के मैसुमा इलाके में शनिवार दोपहर सारी दुकानें और अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद हो गए।

मलिक के परिजनों के अनुसार जबसे उन्हें पीएसए के तहत तिहाड़ जेल में रखा गया है, तबसे मिलने नहीं दिया जा रहा है।

मलिक की बहन ने आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें यह नहीं बताया जा रहा है कि वह किस अस्पताल में हैं।

यह भी आरोप लगाया कि मलिक के वकील अस्पताल में उनसे तबीयत पूछने गए थे, लेकिन उन्हें वापस लौटा दिया गया।

हुर्रियत कांफ्रेंस के उदारवादी गुट के चेयरमैन मीरवाइज मौलवी उमर फारूक ने मलिक की तबीयत बिगड़ने की सूचना पर कहा कि मलिक की सुरक्षा की जिम्मेदारी राज्य प्रशासन पर है।