7th Pay Commission: सरकारी कर्मचारियों के लिए एक अच्छी खबर है। गुजरात सरकार ने अपने सरकारी हॉस्पिटलों में कार्य कर रहे डॉक्टर्स और मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च सोसायटी मेडिकल कॉलेजों के टीचरों के लिए सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों के मुताबिक नॉन प्रैक्टिस अलाउंस को मंजूरी दे दी है। ऐसे में कर्मचारियों के वेतन में अच्छी बढ़ोतरी होगी।

बढ़कर आएगा वेतन

राज्य के डिप्टी सीएम और स्वास्थ्य मंत्री नितिन पटेल ने डॉक्टरों और कॉलेज टीचर्स के लिए रक्षाबंधन का गिफ्ट बताते हुए इस निर्णया की घोषणा की। बता दें शिक्षक और डॉक्टर्स काफी समय से मांग कर रहे थे। इसे लेकर कई बार हड़ताल भी कर चुके थे। अब सरकार के फैसले के बाद कर्मचारियों का वेतन बढ़ जाएगा। उपमुख्यमंत्री पटेल ने फेसबुक पर पोस्ट शेयर कर जानकारी दी। उन्होंने लिखा कि सरकारी हॉस्पिटल के पात्र सेवारत डॉक्टरों और जीएमईआरएस मेडिकल कॉलेज के टीचर्स को एनपीए की मंजूरी दी है।

इस शर्त पर मिला भत्ता

गुजरात सरकार ने इस वर्ष मई में सातवें वेतन आयोग के अनुसार छह सरकारी चिकित्सा कॉलेजों के शिक्षकों के लिए एनपीए को हरी झंडी दी है। उसके बाद उन्हें आठ जीएमईआरएस मेडिकल कॉलेजों के टीचरों के साथ हड़ताल वापस लेने की शर्त पर मंजूरी दी गई है।

Posted By: Navodit Saktawat